मेने अपनी वाइफ को अपने दोस्त से चुदवाया
मेने मंजू को बेडरूम के बाहर ही रुकने को कहा. फिर में अंदर जाकर सोफे पेर बेत गया. वो बेड पेर बेता हुआ टीवी के चॅनेल्स पलट रहा था.. मे : आकाश यार ई आम सॉरी बुत आज तुम्हारा बर्तडे हम दोनो आक्ची तरह से नही माना पाए आकाश : नो यार अमर इट्स ऑलराइट. मूज़े कोई गिफ्ट नही छाईए .. में तो सिफ्ट मज़ाक कर रहा था.. मे : आकाश मेने भौत सोचा के तुम्हारे लिए सबसे अच्छा गिफ्ट क्या हो सकता है.. फिर मूज़े ध्यान आया के हो ना हो सबसे अक्चा गिफ्ट तो तुम्हारे लिए एक औरत ही है..क्योंकि वो ही तुम्हारी नीड्स को पूरा कर सकती है... इसले मी डियर फ्रेंड आकाश में तुम्हे एक गिफ्ट प्रेज़ेंट करने जा रहा हून. आकाश : वेर इस थे गिफ्ट.? मे : मंजू प्लेसे कम इनसाइड ई शाउटेड. मंजू अंदर आ कर आकाश के सामने खड़ी हो गये.. आकाश मंजू को इस हालत में देख कर हैरान हो गे.. ओर बोला वॉट इस तीस अमर.. मे : तीस लेडी मी सेक्सी मस्त वाइफ इस युवर बर्तडे गिफ्ट टुडे आकाश ... अब से लेकर मंडे मॉर्निंग तक मेरी सेक्सी बक्सम वाइफ तुम्हारे साथी ही रहेगे, साथ सोएगे,, साथ उठेगी, साथ नहैईगे, जो तुम चाहोगे वो यह करेगी.. अब से लेकर मंडे मॉर्निंग तक तुम दोनो कपल हो ओर में गैर मर्द. आकाश यह सुन कर ज़ोर से चीलाया.. वाउ अमर वाउ मी डियर फ्रेंड्स वॉट आ गिफ्ट योउ हॅव गिवन तो मे.. क्या गिफ्ट करा है तुमने मूज़े यार. इस चीज़ के तो मूज़े सबसे ज़यादा ज़रूरत थी.. ग्रेट अमर ई आम वेरी थॅंकफुल तो योउ... यार मे : अब में एक गैर मर्द हून तुम दोनो कपल्स के बीच ,,,, अगर तुम चाहो तो मूज़े सोफा पेर सोने के पर्मिशन दे दो वरना यहाँ से भगा दो में गेस्ट रूम में जाकर सो जाऊँगा.. आकाश : नहीं गैर मर्द आज रात तुम यहीं सोफे पेर सो जयो ओर हन मूज़े ओर मेरी वाइफ कोई बिल्कुल भी डिस्टर्ब नहीं करना वरना गांद पे लात मार कर गेस्ट रूम में फेंक दूँगा.. संजे मे : ओक सिर. आकाश मंजू के सामने जाकर खड़ा हो गया ओर उसके खूबसूरती को चारो तरफ से घूम घूम कर देखने लगा.. फिर बोला मंजू मी डार्लिंग मी वाइफ आज आ गायें तुम मेरी मुट्ठी में अब तो मंडे मॉर्निंग तक जाम कर तुम्हारी इस छूट को मारूँगा..मंजू के पॅंटीस पेर अपने हाथों को रगारता हुआ बोला....
मंजू के हालत तो देखने वाली थी.. मूँह शरम से लाल हो रहा था,,,, नर्वस हनी के वजा से नंगी गोरी थाइस तर तर करके काँप रही थी.. पिंक लिपस्टिकस लगे लिप्स स्लोली स्लोली तर तर कर रहे थे..गोरा बदन बिल्कुल सावधान पोसितों में आकाश के आगे चूड़ने के लिए तय्यार खड़ा था. आकाश मंजू के सामने जाकर खड़ा हो गया ओर अपने दोनो हाथों से पतली कमर को जाकड़ लिया ओर कस के अपने लिप्स को मंजू के लिप्स पेर चिपका दिया... किस्सिंग शुरू हो चुकी थी.. आकाश लिप्स को इतने ताक़त से चूस रहा थी के मंजू का पूरा बदन पीछे के तरफ जाने लगा. मंजू जा कर साइड के दीवार से चिपक गये... आकाश रेग्युलर मेरे वाइफ के बदन को अपने हातों में जकड़े हुआ ज़ोर ज़ोर से उसके लिप्स को चूस रहा था.. मंजू छटपटा रही थी ओर कोई रेस्पॉन्स अभी तक उसके तरफ से नहीं देख रहा था....


आकाश : वा अमर वूऊओ .. क्या मज़ा आ रहा है इसके होतों में.. ऐसा लग रहा है जैसे आइस-क्रीम चूस रहा हून...

कह कर फिर मंजू के होंतों से चिपक गया.. अब मेरी वाइफ का पूरा फेस अपने दोनो हांतों में भर कर आकाश ने चुंबन जड़ने शुरू कर दिए. चूमता चूमता आकाश मंजू के नेक ओर शोल्डर को जी भर कर चाटने ओर काटने लगा. मंजू के मूँह से अब सेक्स के सिसकियाँ निकालने लग गये थी.. ओउुउउ.. ऊओउू आआआअ आआआअ.. ओउुउउ अम्म्म्म. आआआहह.. ओउुउउक्. तभी आकाश ने अपने हाथों को मंजू के बॅक पेर फेरते हुआ उसके रेड ब्रा का हुक खोल दिया. मंजू के बूब्स के वजन से वजा से ब्रा सरक कर गिर गये.

वाउ वॉट आ मॅग्निफिसेंट बूब्स... क्या मस्त मोममे हैं मेरी जान.. आकाश बोला

आकाश ने तोरा पीछे होकर मंजू के ब्रेस्ट को कुछ देर तक देखा ओर बोला.. यार अमर कहाँ से लेकर आया तू ऐसी मस्त बीवी.. में तो आज जी भर कर इन बूब्स को चूँसोंगा...

आकाश ने मंजू के दोनो बूब्स को अपने दोनो हांतों में भर लिया ओर धीरे धीरे दबाने लगा.. मंजू के सिसकियों के आवाज़ बदल कर करहाने लगी.. मूज़े पता था के मेरी वाइफ के बूब्स अगर एक बार कोई प्रेस या सक कर दे तो फिर बिना चुदाई करवाए वो रह नहीं सकती. आकाश ने फिर अपने लिप्स से बूब्स पेर किस्सिंग मारनी शुरू कर दे.. वो कभी लेफ्ट बूब्स को डाटबा ओर रिघ्त को चूस्टा तो कभी रिघ्त को दबाता ओर लेफ्ट को चूस्टा.. मंजू भी अब काफ़ी गरम हो चुकी थी.. दोनो मस्त कपल देख रहे थे.. आकाश ने अपने सारे कपड़े उतार दिए.. उसका लंड 9" लूंबा ओर कोक के बॉटल के तरह मेरे वाइफ को मानो जैसे सल्यूट कर रहा हो.
मंजू इतना मोटा ओर लूंबा लंड देख कर दर गये.. उसको पता लग चुका था के अब यह इसके छूट को तार तार करने वाला है.. आकाश ने मंजू का फेस देखा ओर समाज गया के वो दर रहै है...

आकाश : डरो नहीं डार्लिंग योउ अरे मी वाइफ.. ओर वाइफ को तो हब्बी का लंड अपनी छूट में लेना ही पड़ेगा.. अब चाहये छूट का साइज़ बड़ा ही क्यों ना हो जाए.. हे हे हे

मंजू को गोड में उठा कर वो मेरे मॅरिटल बेड के तरफ गया.. आकाश ने मेरे वाइफ को पीठ के बाल बिस्तर पेर लेता डेया ओर उसके लेग्स के पास बेत गया.. मंजू ने शरम से अपने आँखें बंद कर रखी थी.. में सोफे पेर बेता सॉफ नज़ारा ले रहा था.. मेरा लंड भी फटकारे मार मार कर परेशन हो रखा था..

आकाश : वॉट आ ब्यूटी .. वॉट ब्यूटी इस मी टेम्पेरोरे वाइफ....

आकाश ने मंजू के टोस को उठा कर सक करना शुरू कर दिया.. दोनो लेग्स के बीच बेता मेरा दोस्त ऐसा लग रहा था जैसे कोई मर्द अपनी सुहग्रात माना रहा हो.. मंजू के दोनो लेग्स को खोल कर आकाश ने थाइस पेर किस्सिंग जड़ने लगा.. दोनो थाइस को सक करता करता वो बीच बीच में पॅंटीस में छुपी छूट पेर भी किस मार देता.. मंजू अब सेक्स में इतने उतावली हो चुकी थी के उसके कमर बेड पेर लचक मार रही थी... उसके फेस पेर सेक्स एक्सप्रेशन सॉफ देख रहे थे... ओउूफ़ सीईईईई आआहह वूव्ववववव ओह डार्लिंग योउ अरे ग्रेट . उसके . निकल . थाइन......

तभी आकाश ने मेरी वाइफ के पॅंटीस को भी उतार दिया.... पॅंटीस को मेरी तरफ उछाल कर बोला... . रख ले घर के ., ओर आज इस पनटी को अपने लंड पेर रगर रगर कर . ., क्योंकि इस पॅंटीस के पीछे रहने वाली छूट तो आज मेरी है..
आकाश ने अपना मूँह मेरे वाइफ के लेग्स के बीच घोसा दिया.... अपने आंगल से मूज़े ऐसा लग था था के शायद मंजू के छोटी से छूट पूरी के पूरी उसके मूनत में है.. अपने बड़े से मूँह के अंदर उसने मेरे वाइफ के पूरी छूट को भर रक्खा था... आकाश मेरी वाइफ के पिंक छूट ऐसे चूस रा था मानो कोई भाईं का बाकचा उसके तन को मूँह में भर कर ज़ूर ज़ूर से चूस्टा है. मंजू तो पागलों के तरह से करहाने लगी थी.. मंजू के हाथ आकाश के सर के बलों को पकड़ के ज़ूर ज़ूर से खीच रहे थे... क्या सीन बन रहा था.. दोनो मस्ती में जूम रहे थे ओर मेरा लंड मुज से कह रहा था के अब झाड़ जा झाड़ जा.... मगर में चुदाई को देखने के लिए उत्सुक था.. आकाश ने 15 मिनिट छूट को चाटने ओर चूसने के बाद चोर दिया.....मैने सोफे से उठा कर देखा तो नहीं मगर इतने बुरी तरह चूसने के बाद मंजू के लिट्ल पिंक छूट अब लाल कलर के हो गई होगी.


तभी आकाश मेरे वाइफ के उपर चाड गया ओर अपने लंड के पोज़िशन को छूट के तरफ कर दिया.. सबसे पहले में अपनी वाइफ को मिशनरी पोज़िशन में छोड़ोंगा आकाश बोला.. आकाश ने अपना लोड्*ा मंजू के छूट पेर टीका दिया.. मंजू लंड ओर छूट के इस टक्कर से उछाल गये...

मंजू : आकाश प्लीज़ टके इट ईज़ी.. यह भौत बड़ा है .. आराम से करना वरना यह लंड मेरी छूट को फाड़ देगा.... आआआआअह्ह्ह्ह

आकाश ने अपने लंड को हाट में पकड़ा ओर मंजू के छूट के उपर रगरना शर कर दिया...मंजू समाज गये थी के अब उसको चूड़ने से कोई नही रोक सकता..

आकाश : बड़ी बेशरम औरत हो तूमम्म.. अपने हज़्बेंड का नाम लेती हो.. चलो चुप छाप मूज़े हनी या हब्बी कह कर बुलाओ..

मंजू : प्लीज़ मी डियर हनी.. मूज़े ईज़िली स्लोली स्लोली छोड़ना वरना मेरी छूट फॅट जाएगे..

आकाश काफ़ी देर तक मेरे वाइफ के छूट के लिप्स पेर अपना लंड रगारता रहा.... में समाज गया था के वो अचानक से लंड डालने का प्लान कर रहा है..तभी आकाश बोला

आकाश : उपर देखो रूफ के ड्यूवर पे छिपकली बेती है..

मंजू का ध्यान रूफ के तरफ गया.. आकाश समाज गया था के अब मेरे वाइफ का माइंड छत ओर छिपकली पेर है.. जैसे ही मेरे वाइफ का ध्यान भटका आकाश ने अपने हिप्स को पीछे किया ओर झटका मारा. आकाश का पूरा 9" लूंबा मोटा लंड मंजू के पिंक छूट को चीरता हुआ अंदर घुस गया..

ऊऊउउउउउउउउउउउउईईईईईईईइ माआआआआआआआ माआअर डााालाआाआअ

आआहह हह माअर डीईईय्ाआआअ...... अयाया फ़ाआर दियाआआआअ. मंजू क्राइड इन पाईं.. ऐसा लगा मानो मंजू के वर्जिन छूट को दोबारा से खोल दिया गया हो.

आकाश तुमने तो मेरी छूट को फार दिया रे .. मान में मार गइई.. ऊऊऊऊऊऊऊऊओउुुुुुुउउ..

आकाश : हा हा हा हा कैसा लगा सर्प्राइज़... डार्लिंग अगर में अचानक से के छूट के साइज़ को बड़ा नहीं करता तो तुम सुबह तक इस लंड को अपनी छूट में नहीं जेनी देती..

मंजू ओर आकाश का सेक्षुयल पार्ट्स एकद्ूम चिपक चुका था... पूरा लंड मंजू के छूट में घुसा बेता था....

आकाश ने मेरे वाइफ के शोल्डर्स को अपने हतों में था लिया, फेस ओर लिप्स पेर किस्सिंग करने लगा.. शायद वो अपने लंड को कुछ देर मेरे वाइफ के छूट में घुसा कर रखना चाहता था.. शायद इस तरह से मंजू के छूट उसके लंड के साइज़ की तरह हो जाए.... आकाश ने पूरा लंड धीरे धीरे पहले बार छूट से बाहर निकल ओर फिर झटके से पूरा अंदर डाल दिया.. मंजू पाईं से फिर चिल्ला उठी.. आकाश ने कोई 10 - 15 धक्के इस तरह मारे... ढेरे ढेरे मंजू का दर्द कुछ काम हनी लगा था... फिर उसने मंजू को छोड़ना शुरू कर दिया.. मेरी वाइफ उसके बाहों में पड़ी चुप छाप चुड रही थी.. थोरी देर में मंजू का दर्द बिल्कुल ख़तम हो गया ओर वो भी अब आकाश का साथ देने लगी.. मंजू ने आकाश को अपने लेग्स से लीपेट लिया... मंजू के सेक्सी लेग्स, उन लेग्स पेर पायल, ओर सेक्सी रेड पेंटेड नाइल्स चुदाई के टाइम भौत मस्त लग रहे थे. मेरे को सिर्फ़ साइड व्यू ही देख रहा था.. आकाश स्लो ओर तेज दोनो तरह से रेग्युलर मंजू के छूट छोड़ रहा था... मंजू भी आकाश को सेम रेस्पॉंड कर रही थी.. दोनो का सेक्षुयल सीन इतना पर्फेक्ट देख रहा था मानो ये कपल एक दूसरे के साथ कई सालों से सेक्स कर रहा हो.. दोनो के सेक्सी आवाज़ों से पूरा कमरा गूँज रहा था....

आकाश : वाउ मंजू मेरी जान क्या मज़ा आ रा है... तेरी छूट तो भौत ही टाइट है.. लगता है अमर से छूट को छोड़ना ही नहीं आता .. तभी तो आज तक यह इतने टाइट ओर स्माल है..... हा हाहाहा...

आकाश : हे योउ घर के नुकर.. इधर आओ..

में बेड के सामने आ गया...

आकाश : यहाँ बेड पेर लेट जाओ ओर चुदाई देखो...
में बेड पेर बेत गया ओर मंजू के फेस को देखने लगा. मंजू का फेस से अब सॉफ देख रहा थी के उसको भी मेरे दोस्त के साथ सेक्स करने में खूब मज़ा आ रहा है.. आकाश ने अपने दखाऊँ के स्पीड को बड़ा दिया.. तभी मंजू बोली फास्ट फास्ट फास्ट प्लीज़ ई आम कमिंग ई आम कमिंग .. में झाड़ रही हूओन ... आआआअहह आआआआहह ओउुुुुुुुुुुुुुुुुुुुुुउउ....उई मया मार गइई....


मंजू : आकाश क्या मस्त लंड है तुम्हारा मेरे जान.. ओर छोड़ो मूज़े ओर छोड़ो ... मेरी छूट फाड़ दो .. मेरी छूट फाड़ दो.... आज इस छूट को इतना बड़ा कर दो के फिर कभी इसको तुम्हारा लंड लेने में कोई प्राब्लम ना हो.....

आकाश : हन हन मेरी जान .. डोंट बॉदर.. अब तुम्हारी छूट को किसे छोटे लंड से मज़ा भी नही आने वाला.. (आकाश मेरी तरफ देख कर बोला)

रेग्युलर ढकों से मंजू के हिप्स बिस्तर में ड्गाज़ चुके थे..उसके सेक्सी पायल पहने लेग्स कभी तो आकाश के हिप्स पेर होते,,, तो कभी हवा में ,,, ओर कभी आकाश उनको अपने शोल्डर पेर रख कर छूट को छोड़ता.,,, आकाश के धक्कों के साथ साथ मंजू के पायल के छान छान साउंड भी स्लो स्लो आवाज़ सुनाई देती..... जिस जगह मंजू के हिप्स थे वहाँ पेर से मॅट्रेस भी नीचे घुस गया था.. आकाश बिना रुके ढके पेर ढके लगा रहा था. मूज़े लगा के शायद आकाश का लंड भौत जल्दी पानी चोर देगा, क्योंकि 1 साल बाद किसे छूट के दर्शन किए थी उसके लंड ने.. मगर में ग़लत था.. अराउंड 20 मिनिट हो चुके थे ओर अब भी रेग्युलर मेरे दोस्त का लंड मेरे वाइफ के छूट के गहराई नाप रहा था.. आकाश फक्किंग के साथ साथ कभी मंजू के बूब्स को चूस्टा तो कभी लिप्स को सक करता.. मूज़े इस कपल को सेक्स करते देख भौत ही मज़ा आ रहा था.. शायद इतना अक्चा सेक्स मेने भी कभी अपनी वाइफ के साथ नहीं किया था.....मेने भी अपना लंड पंत से बाहर निकल कर रगरना शुरू कर दिया.. मंजू ने मेरा लंड अपने हाथ में ले लिया... उसने सोचा शायद मेरे लंड को भी झाड़ देगी.. आकाश से यह देखा नहीं गया ओर उसने मंजू के गाल पेर एक टप्पर जड़ दिया..


आकाश : कुटिया ! .. गैर मर्द का लंड पकड़ती है..

मंजू ने मेरा लंड चोर दिया.. मेने अपने हाथ से ही लंड को रगार्ने लगा... में इतना एक्शिटेड था के 1 मिनिट से पहले ही में झाड़ गया.. ओर सारा स्प्रेम मेरे हतों में रह गया.. में उठ कर अपने हातों को ढोने बातरूम में चला गया... बाहर आकर देखा तो आकाश के फेस के एक्सप्रेशन चेंज हो रहे थे.. में समाज गया था के वो अब झदने वाला है.. तभी कोई दस धक्कों के बाद आकाश गुर्रने लगा..ओर उसने मंजू को अपने बदन इस तरह से चिपका लिया के मानो हवा भी पार ना हो पाए. अयाया आअहह ई आम कमिंग ई आम कमिंग... .. अपने पूरा लंड का पानी मेरी वाइफ के छूट में डाल दिया....मंजू भी साथ साथ चीक्क उठी .. अयाया में भी झाड़ रही हूओन्न ... ई आम कमिंग टूऊओ.. उूउइ मया मार गइई.. आआआहह.,,,,,,,,,,,,,झदने के बाद आकाश मेरे वाइफ के उपर हे ढेर हो गया.. मंजू के बूब्स में उसका सर पड़ा था ... वो भौत तक चुका था मगर लंड अब भी छूट में ही घुसा बेता था... 10 मिनिट बाद कपल का बदन अलग हुआ.. आकाश मंजू के साइड में लेट गया...
मेरी नज़र मंजू पेर गये तो देखा .. वो बेड पेर टाँगे खोले पोज़िशन में पड़ी थी... ऐसा लग रहा था के जैसे दोनो सेक्सी लेग्स 1/2 अवर के रेग्युलर चुदाई के बाद बंद हनी का नाम ही नही लेंगे.. मंजू का बदन पसीनो पसीनो हो रहा था.. आकाश ओर मंजू के कपलिंग के पास्सीने की बूंदे पूरे मिल्की बदन पेर चमक रहीं थाइन. बॉल गीले हो कर शोल्डर्स ओर फेस से चिपक गये थे... आकाश ने खूब जाम कर लिप्स को चूसा था, इसलये लिपस्टिक का तो कुछ पता ही नहीं था ओर लिप्स का साइज़ खुल कर डबल हो गया था.. बूब्स ओर शोल्डर पेर काटने चूसने के वजा से खून जाम गया था.. पुर बदन का कलर वाइट से पिंक हो गया था. मेने दोनो टाँगो को ओर खौल दिया ओर छूट के दर्शन किए. ओह मी गोद. मंजू के पिंक छूट का कलर बदल कर पूरा रेड हो रखा था... मोटे लंड से चूड़ने के वजा से छूट के लिप्स खुले के खुले ही रह गये थे.. छूट के अंदर कई इंच तक सॉफ देखा जस सकता था.. आकाश का स्प्रेम भी मेरे वाइफ के छूट से रिस रिस के बाहर आ रहा था. मंजू बहाल बेड पेर पड़ी थी.. ऐसा लग रहा था मानो किसे ने उसका **** किया हो... मंजू के छूट के नीचे के चादर पूरी गीली हो चुकी थी ,,मेरी वाइफ चुदाई के डॉरॅन 4-5 बार झाड़ गये थी ओर सारा पानी चादर पेर ही बह गया.. मेने कॅमरा निकल लिया ओर इस हालत में उसके कुछ स्नॅप्स ले लिए.. दोनो बेसूध बेड पेर पड़े थी.. फिर आकाश ने मेरे वाइफ को अपने बदन से चिपका लिया .. डार्लिंग कुछ देर रेस्ट करते हैं..आकाश बोला...अराउंड 1 घंटे दोनो एक दूसरे से चिपके रेस्ट करते रहे... आकाश : चलो नहाने चलते हैं.. मंजू : एस मेरे बदन का बुरा हाल है.. गरम पानी डालूंगी तो कुछ रिलीफ होगा... आकाश : आंड योउ .. घर के नौकर हम डॉन के लिए कुछ खाने ओर टी का प्रबंद करो... इतने हम अपनी वाइफ के साथ नहा कर आते हैं ( आकाश मुज से बोला) दोनो एक दूसरे के बाहों में बाहें डेली नहाने चलये गये... ओर अंदर से डोर लॉक कर लिया.. में नीचे किचन में आ गया ओर ओमलेते ओर टी बनाने लगा.. रात के 2 बाज रहे थी.. मगर में जनता था के इतने चुदाई के बाद दोनो को भूक लग रही होगी.. ओर अभी आगे भी आकाश मंजू को चॉरने वाला नहीं है.. में खाना ले कर रूम में पहुँचा तो देखा मंजू ओर आकाश एक दूसरे के बहाओं में लिपटे पड़े हैं .. दोनो के बदन पेर कुछ भी नहीं था.. आकाश मंजू के निपल्स सक कर रहा था ओर उसके फिंगर छूट पेर डिज़ाइन बना रही हैं. मे : सिर ओर मेडम .. आपका खाना.. आकाश : ठीक है टेबल पेर रख दो ओर वहाँ सोफे पेर अपना बिस्तर ले कर सो जाओ... अभी हुँने ओर मस्ती करनी है..
फिर दोनो ने साथ बेत कर ओमलेते ब्रेड खाया ओर टी पी... में अपनी रज़ाई लेकर सोफे पेर लेट गया.. मूज़े नींद भी भौत आ रही थी.. आकाश ओर मंजू दोनो एक ही रज़ाई में घुस गये.. थोरी देर तक दोनो के हल्की हल्की आवाज़ें आ रही थी ओर मूज़े नींद आ गयी.. अराउंड 4 बजे मेरी नींद खुली तो देखा आकाश मेरे वाइफ को डॉगी स्टाइल में छोड़ कर रा है.. मंजू दर्द से चिल्ला रही है.. अया आकाश यह पोज़िशन तो भौत दर्द दे रही है ... प्लीज़ उपर से ही छोड़ लो ना...... आकाश बोला नहीं मेरी डार्लिंग मंजू थोरी देर में तुम्हे इस पोज़िशन में भे मज़ा आने लगेगा...


में समाज गया के शायद पूरी रात यह कपल सोने वाला नहीं है... मूज़े फिर नींद आ गयी... फिर मेरी नींद 8 बजे खुली तो देखा आकाश बेड पेर लेता है ओर मंजू उसके लंड पेर बेत कर चुड रही है..
वा वा क्या मज़ा आ रहा है मेरी जान मंजू... अपने गांद को गोल गोल घूमाओ फिर मेरे लंड को ओर मज़ा आएगा आकाश कह रहा था.. में फिर सो गया शायद रात काफ़ी लाते सोया था इसलये.. सुबह जब 11 बजे मेरी नींद खुली तो देखा दोनो बेड पेर नहीं हैं ओर शवर में से आवाज़ें आ रही है.. में समाज गया के अब के बार चुदाई शायद शवर में हो रही है..


में उठ कर दूसरे रूम में नहाने के लिए चला गया.. शवर लेने के बाद में किचन में ब्रेकफास्ट तय्यार करने के लिए आ गया.. मेने देखा के दोनो पूरे न्यूड हालत में ऑलरेडी डिन्निंग टेबल पेर बेते हैं.. दोनो न्यूड बात ले कर शायद मेरा ही वेट कर रहे थे..

आकाश : हे सर्वेंट. प्लीज़ जल्दी से ब्रेकफास्ट लगाओ..

मेनें जलदे से ब्रेकफास्ट तय्यार किया ओर टेबल पेर लगा दिया.. दोनो ने जाम कर खाया.. खाने के बाद आकाश ओर मंजू मेरे बेडरूम में चले गये.. जाते जाते आकाश बोला

आकाश : सर्वेंट हम दोनो के लिए लंच ओर डिन्नर तय्यार कर के रखना... ओर हन डिस्टर्ब करने के ज़रूरत नहीं है.. नींद आए तो गेस्ट रूम में ही सो जाना.. मूज़े ओर मेरी वाइफ को कोई भी डिस्टर्बेन्स नहीं छाईए. संजे..

मे : ओकी सिर..

फिर दोनो ने अंदर से रूम बंद कर लिया.. मेने लंच ओर डिन्नर का ऑर्डर बाहर से दे दिया ओर गेस्ट रूम में आकर सो गया.. दोनो ने खूब जाम कर पूरे दिन ओर नेक्स्ट रात को चुदाई के.. मेरे गेस्ट रूम तक भी कभी कभी आकाश के लंड के झदने के ओर कभी मंजू के सिसकियों के आवाज़ें आती रहीं.....

मंडे मॉर्निंग आकाश ने मंजू को मूज़े वापस दे दिया.. ओर बोला .. थॅंक आ लॉट डियर फ्रेंड अमर.. अगर तुम मूज़े यह गिफ्ट ना देते तो में पागल ही हो जाता.. तुम्हारी वाइफ मंजू एक रियल ब्यूटी हैं .. मूज़े इसके बदन के साथ भौत मज़ा आया.. ओर में यह गिफ्ट हुमेशा याद रखूँगा.. कह कर आकाश अपने पर्सनल वर्क से बाहर चला गया.. मंडे नाइट उसके रिटर्न फ्लाइट थी...
में मंजू को अपने रूम में ले आया ओर फिर मंजू ने मूज़े अपना एक्सपीरियेन्स बताया.. मंजू ने आकाश के भौत तारीफ के ओर बताया के किस तरह उसने उसको 10-12 बार छोड़ा..


मंजू : आकाश का लंड ही एक रियल लंड है... यह देखो उसने मेरी छूट को रियल वुमन छूट बनाया है...

मेने देखा मंजू के छूट खुल कर काफ़ी बड़ी हो गये थी.. ओर आकाश के रियल लंड के वजा से लिप्स रेग्युलर ओपंड देख रहे थे...

मंजू : हे इस आ रियल मैं .. आकाश ने मूज़े प्यार भी किया ओर छोड़ा भी... उसके हर नये आक्षन में शुरू में तो मूज़े दर्द हुआ.. मगर फिर मज़ा भी भौत आया

फिर आकाश ने मंडे नाइट अपनी सिटी के लिए फ्लाइट पकड़ ले.. जाते जाते मंजू से बोला .. प्लीज़ मंजू बुरा मत माना एक बात कहूँ..

मंजू : हन बोलो..

आकाश : एक किस करना चाहता हून..

मंजू ने अपने लिप्स को अगये कर दिया..

आकाश : अरे पगली यहाँ नहीं.....

मंजू : तो फिर कहाँ... आंड शी स्टार्ट स्माइलिंग..

आकाश ने मेरे वाइफ के सारी को उठा दिया ओर नंगी छूट पेर धीरे से किस करके बोला.. गुड बाइ..
 


Possibly Related Threads...
Thread:AuthorReplies:Views:Last Post
  दोस्त की मम्मी ने मुझसे अपनी गांड मरवाई Le Lee 1 310 03-18-2019
Last Post: Le Lee
  दीदी ने अपनी चूत की आग मुझसे चुदकर बुझाई Le Lee 1 350 03-15-2019
Last Post: Le Lee
  जेठ से चुदवाया और उनकी गांड मारी Le Lee 3 2,364 10-30-2018
Last Post: Le Lee
  भाभी ने छोटी बहन को चुदवाया Le Lee 1 7,933 03-20-2018
Last Post: sanpiseth40
  झंडाराम और ठंडाराम - सेक्स का गेम खेला अपनी पत्नियों के साथ Le Lee 5 5,886 03-20-2018
Last Post: sanpiseth40
  मम्मी बनी मेरे दोस्त के पापा की रखैल Le Lee 70 96,946 10-30-2016
Last Post: Le Lee
Bug दोस्त की गरम माँ sangeeta32 1 16,231 08-24-2016
Last Post: Le Lee
  [Hardcore] बेटी ने माँ को चुदवाया vijwan 1 18,956 05-05-2016
Last Post: sangeeta32
  बीवी ने सहेली को चुदवाया Le Lee 5 19,490 02-20-2016
Last Post: Le Lee
  अपनी मौसी की गाण्ड Le Lee 4 28,211 12-26-2015
Last Post: Le Lee