जेठ से चुदवाया और उनकी गांड मारी
मेरा नाम रानी है, मैं मध्य प्रदेश से हूँ, मेरी उम्र 38 साल हैं पर मैं 30 साल से ज़्यादा की नहीं लगती हूँ मेरे बूब्स का साइज़ 34C, कमर 30, कूल्हे (गांड) 36, रंग गोरा और क़द (हाईट) 5 फिट 4 इंच है । मैं शादीशुदा हूँ मेरे 2 बच्चे है (मेरे बच्चे ऑपरेशन से हुये हैं तो इसलिए अभी भी मेरी चूत ढीली नहीं हुयी है) मेरे मियां की उम्र 48 साल है, उनका नाम नौमान है उनका क़द 5 फिट 6 इंच है और लंड का साइज़ पाँच इंच और मोटाई करीब 2 इंच है। वो एक कंपनी में फील्ड ऑफिसर हैं और अक्सर टूर पर रहते हैं । अच्छी तंखा (वेतन) है ज़िंदगी ऐश से गुज़र रही है । मेरे मियां और उनके बड़े भाई एक ही मकान मैं रहते हैं, ग्राउंड फ्लोर गोडाउन के लिए किराए पर दिया है, सेकंड फ्लोर पर हम रहते हैं और फ़र्स्ट फ्लोर पर मेरे जेठ का फ़ैमिली रहती है । जेठ का नाम अमन और जेठानी का नाम सोनिया है । मैं आगे जेठ और जेठानी को उनके नाम से ही बुलाऊंगी । अमन के घर मैं उनकी बीवी और 2 बच्चे रहते हैं । मेरे जेठ यानि अमन की उम्र 53 वर्ष है और क़द 6 फिट के करीब है और जेठानी यानि सोनिया की उम्र 46 साल है, मेरी जेठानी के बूब्स 38 D है और कसे हुये हैं, कमर 36, कूल्हे (गांड) 40 है, क़द 5 फिट 2 इंच, रंग गोरा है और बदन गठीला है ।
मेरी सोनिया से सेक्स के बारे मैं अक्सर बात होती रहती है और हम एक दूसरे को अपनी चुदाई के बारे मैं बताते हैं । सोनिया ने बताया की अमन यानि मेरे जेठ का लंड का साइज़ साड़े छे इंच है और करीब तीन इंच मोटा है । मेरे मियां को ब्लू फिल्म देखना का शौक था और मेरे जेठ को भी ब्लू फिल्म देखना का शौक था । मेरे जेठ हर हफ़्ते सनीचर की रात को वी सी आर और ब्लू फिल्में किराए पर लाते थे (यह करीब 19 साल पहले की बात है जब वी सी आर और कैसेट किराए पर मिलते थे) । मेरी जेठानी भी जेठ के साथ ब्लू फिल्म देखती थी और मुझे बताती थी की कैसे दो – तीन मर्द एक औरत को चोद रहे थे या नीग्रो अपने बड़े काले लंड से चोद रहा था । जेठ सनीचर को पूरी रात ब्लू फिल्म देखते और सोनिया को चोदते। एक दिन मैंने सोनिया से कहा की हमें भी (मेरे मियां और मुझे) ब्लू फिल्में देखना हैं, जेठ जी कहाँ से वी सी आर और कैसेट लाते हैं । तो सोनिया ने कहा की मैं अमन से पूँछ कर बताऊँगी । अगले सनीचर पर जेठानी ने बताया की अमन ने एक तरकीब बताई है जिससे हमारे साथ तुम लोग भी ब्लू फिल्में देख सकते हो और तुम लोगों के पैसे भी खर्च नहीं होंगे तो मैंने कहा बताओ क्या तरकीब है तो सोनिया ने कहा की अमन कह रहा है की वी सी आर के साथ एक और केबल जोड़ कर तुम्हारे कमरे के टीवी मैं लगा देंगे जिससे तुम लोग भी ब्लू फिल्में देख सकते हो (उस वक़्त मेरे और जेठानी का कमरा पास पास था फ़र्स्ट फ्लोर पर ही था) मैंने अपने मियां से पूंछा तो वो राज़ी हो गए तो मैंने सोनिया को हाँ कर दी, मेरे जेठ ने एक केबल ला कर हमारे टीवी को भी अपने टीवी से जोड़ दिया फिर हर सनीचर की रात को जेठ वी सी आर और ब्लू फिल्में किराए पर लाते और जेठ जिठानी अपने कमरे मैं और हम अपने कमरे मैं एक ही ब्लू फिल्में देखते और रात भर चुदाई करते, अमन बहुत ही ज़बरदस्त ब्लू फिल्में लाते थे ग्रुप सेक्स की कई बार कुत्ते घोड़े से औरत की चुदाई की फिल्में भी लाते । कई बार ऐसा होता की ब्लू फिल्म देखते हुये हमें बाथरूम जाना होता था तो कभी मेरा सामना जेठ से हो जाता था, वो भी बाथरूम के लिए बाहर निकलते थे, हमारी नज़र मिलती थीं तो मैं नज़र नीचे कर लेती थी क्यूंकी हम दोने एक ही चीज़ अलग अलग कमरे मे देख कर निकलते थे । मैं दिल मैं सोचती थी की अमन अपने लंड से अभी सोनिया को चोद कर आए हैं अपना लंड साफ़ करने और अमन सोचते होंगे की रानी नोमान से चुदवा कर अपनी गीली चूत साफ़ करने आई होगी । कई साल तक ऐसा ही चलता रहा । फिर मेरे जेठ ने और मेरे मियां ने कम्प्युटर ले लिया तो नेट पर हम अलग अलग फिल्में देखने लगे, मेरे जेठ अमन कोई अच्छी फिल्म की डीवीडी लाते या नेट से डाउन्लोड करते तो सोनिया वो डीवीडी या पेन ड्राइव लाकर मुझे दे देती मेरे कम्प्युटर मैं कॉपी करने की लिए दे देती और कभी नौमान लाते तो मैं सोनिया को दे देती, वैसे तो अमन ही अक्सर डीवीडी या पेन ड्राइव लाते थे । अमन को ऑनलाइन नेट से सोनिया के लिए ब्रा, पेंटी व सेक्सी लिंगेरी (सेक्सी अंतर्वस्त्र) मंगाते थे जो सोनिया मुझे दिखाती थी । उसमे से मुझे जो पसंद आ जाता वो मैं सोनिया से कहती की अमन से कह कर मेरे लिए भी नेट से मँगवा दे तो सोनिया मेरा बूब्स का साइज़ 34C अमन को बताकर मेरे लिए भी कई बार ब्रा-पेंटी मँगवा देती थी।
मेरे मियां मुझे हफ्ते मैं 2 बार चोदते हैं और कभी कभी गांड भी मारते हैं, मैं चाहती हूँ की मेरे मियां मुझे हफ्ते मैं कम से कम 4-5 बार चोदें । सोनिया ने बताया की उनके मियां यानि अमन को तो अब भी 51 साल की उम्र मैं रोज़ चूत या गांड चाहिए पर वो उन्हें कई बार मना कर देती है लेकिन फिर भी 51 साल की उम्र मैं वोह सोनिया को हफ्ते मैं 4-5 बार ज़रूर चोदते हैं और गांड भी मारते हैं । यह सुन कर मेरी चूत गीली हो जाती है क्योंकि मुझे भी ऐसी ही चुदाई और गांड मरायी चाहिए थी, हालांकि मैं अपने मियां की चुदाई से संतुष्ट थी पर फिर भी मुझे और चुदाई चाहिए थी । सोनिया ने बताया की उनके मियां यूनानी (हकीमी) सेक्स पावर बढ़ाने की 2-3 माजून व गोली खाते हैं जिससे उनका लंड चोदते वक़्त लोहे की राड की तरह खड़ा रहता है और वो उन्हे जम कर चोदते हैं । जेठानी की चुदाई की बातें सुन सुन कर मेरी चूत के पानी से मेरी पेंटी गीली हो जाती है ।
सोनिया ने बताया की अमन कई बार उनका मसाज भी करते हैं और अमन ने 2-3 डिल्डो यानि नकली लंड भी नेट से मंगवा रखे थे उससे भी सोनिया की चुदाई करते हैं । एक डिल्डो ऐसा है जिसे सोनिया अपनी चूत मैं फंसा कर कभी कभी अमन की गांड भी मारती है ।
यह सब सुन सुन कर मेरे दिल भी यह सब करने की लिए मचल उठा मैंने सोचा की क्यूँ न अमन यानि मेरे जेठ को पटाकर चुदवाया और गांड मरवाई जाए और उनकी भी गांड मारी जाए (क्यूंकी हमने सेंकड़ों ब्लू फिल्में साथ साथ देखी थीं भले ही अपने अपने कमरे मैं पर देखी तो थीं, इसलिए अमन को भी मालूम है की मैं कितनी सेक्सी हूँ और चुदाई की खिलाड़ी हूँ) तो मैंने अपने जेठ को पटाने की शुरुआत कर दी । अब जब अमन घर मैं होते तो मैं टाइट लेगिंग और टी शर्ट पहन कर उनके कमरे मैं जा कर सोनिया से बातें करने लगती और अमन से भी करती जाती और सोनिया से नज़र बचाकर उनकी तरफ देख कर कभी अपने दूध दबाती या अपनी चूत खुजाती । अमन कई बार मेरी इस हरकत को देखते और ऐसा कुछ दिन तक चलता रहा मैं जब भी उनके कमरे मैं जाती मुझे ऐसा लगता की वोह भी इंतज़ार करते हैं की कब मैं उनके कमरे मैं आऊँ और अपने दूध और चूत खुजाऊँ क्यूंकी मैंने देखा की मेरे ऐसा करने से उनका लंड खड़ा हो जाता था और झटके खाने लगता था और उनके लोअर मैं उपर नीचे होने लगता था । यह देख कर मेरी चूत गीली हो जाती थी।
एक दिन मुझे मार्केट जाना था मेरे मियां टूर पर गए हुये थे तो मैंने सोनिया से कहा की वह अमन से कहे की मुझे मार्केट ले जाएँ । सोनिया ने अमन से कहा तो वो फ़ौरन तैयार हो गए। मुझे एक शरारत सूझी मैंने सोचा की अमन ने मेरे लिए कई बार नेट से ब्रा मँगवाई है उसे मेरा साइज़ तो पता है क्यूँ न आज उसको अपने बूब्स 34C साइज़ का मज़ा दूँ। तो मैंने अपनी ब्रा उतार कर खाली कुर्ता पहन लिया कुर्ते का कपड़ा पतला था तो मैंने उपर से एक दुपट्टा औढ़ लिया ताकि मेरे दूध किसी को न दिखें और मैं अपने जेठ अमन के साथ उनकी एक्टिवा पर अपनी टांगें फैलाकर लड़कों की तरह बैठ कर मार्केट की लिए चल दी । मैंने पीछे बैठ कर अपना दुपट्टा आगे से थोड़ा ऊपर कर लिया और अमन के थोड़ा पास सरक गई तभी अमन ने एक्टिवा का ब्रेक लगाया तो मेरे दोनों दूध अमन की पीठ से टकरा गए जैसा की मैं चाहती थी ऐसा 2-3 बार हुआ । हम मार्केट पहुँच गए मैंने अपनी ख़रीदारी की और वापस अमन के साथ एक्टिवा पर अपनी टांगें फ़ेलाकर लड़कों की तरह बैठ गई । रास्ते मैं अमन की गाड़ी के सामने एक कुत्ता आ गया तो अमन ने अचानक ब्रेक लगाया तो मेरे दोनों दूध अमन की पीठ से ज़ोर से टकराये मैं थोड़ी देर ऐसे ही दोनों दूध अमन की पीठ से लगा कर बैठी रही फिर थोड़ा पीछे हुई और ठीक से बैठ गई अमन बोला की मुझे पकड़ कर बैठ जाओ नहीं तो गिर पड़ोगी ट्राफिक बहुत है और अचानक ब्रेक लगा सकता हूँ तो मैंने अमन की कमर मैं हाथ डाल कर बैठ गई। अचानक अमन ने फिर ब्रेक लगाया तो दूध फिर उसकी पीठ से टकराये और मेरे हाथ कमर से फिसल कर नीचे चला गया तो मैंने महसूस किया की अमन का लंड खड़ा हो चुका है मैंने अपना हाथ फौरन हटा लिया और थोड़ी देर बाद हम घर वापस आ गए। मुझे यकीन हो गया था की अब मैं जल्दी ही अमन से चुद सकती हूँ, पर कब, कहाँ और कैसे ।
फिर अगस्त 2017 मैं वो दिन भी आ गया जब मैं अमन से चुदवा सकती थी । सोनिया अपने बच्चों के साथ अपने मायके चली गई थी जो हमारे शहर से करीब 25 कि.मी दूर था और वो दो दिन बाद लोटने वाली थी, उसी रात मेरे मियां भी 3 दिन के लिए ऑफिस टूर पर चले गए । अब घर में सिर्फ मैं मेरे बच्चे और जेठ रह गए । मेरे बच्चों के घर मैं रहते मैं अपने जेठ से चुदवा नहीं सकती थी । रात तो मैंने किसी तरह काट ली, सुबह उठ कर मैं सोचने लगी की अमन से किस तरह चुदवाया जाए, तभी मेरे मायके से सुबह करीब 8 बजे फोन आया कि मेरे भाई अपने बच्चों को शहर से बाहर घुमाने ले जा रहे हैं अगर मैं चाहूँ तो वोह मेरे बच्चों को भी ले जाएंगे तो मैंने फ़ौरन हाँ कर दी, तो उन्होने कहा की वो मेरे बच्चों को लेने 10 बजे तक आएंगे । मेरी तो मन कि मुराद पूरी हो गयी । मैंने जल्दी से अपने बच्चों को तैयार होने को कहा । बच्चे घूमने जाने कि तैयारी मैं लग गए। मैंने सोचा कि 10 बजे बच्चे चले जाएंगे और क़रीब 10.30 बजे कामवाली बाई घर कि सफाई करने आ जाएगी और वो एक घंटे बाद जाएगी उसके बाद मैं अपने जेठ अमन से चुदवाऊंगी । मुझे जेठ को भी ब्रेकफ़ास्ट तैयार करके देना था। तो मेरा दिमाग़ मैं एक आइडिया आया कि क्यूँ न मैं अपने जेठ को गर्म करने कि तैयारी अभी से शुरू कर दूँ उस वक़्त मैं एक टाइट लेगिंग्स और लॉन्ग टी शर्ट पहने थी अंदर ब्रा पेंटी कुछ नहीं पहने थी, तो मैंने अपने कमरे मैं जा कर अपनी लेगिंग्स कि नीचे से चूत कि तरफ़ से सिलाई उधेड़ दी फिर मैंने आईने मैं झुक कर देखा तो झुकने पर पीछे से मेरी झांटों वाली चूत और गांड का सूराख़ (छेद) नज़र आ रहा था । मैं जेठ का नाश्ता लेकर उनके कमरे मैं गई तो उस वक़्त मेरे जेठ अपने कम्प्युटर पर कुछ कर रहे थे मुझे देख कर जल्दी से उन्होने अपनी ओपन विंडो को मिनिमाइज़ किया मैंने देखा कि उनका लोअर कुछ उठा हुया है, मैं समझ गई कि वो कोई सेक्सी चीज़ या ब्लू फिल्म देख रहे थे क्यूंकी रात को जेठानी सोनिया तो थी नहीं और उन्हें चोदने को चूत या गांड नहीं मिली होगी । मैंने नाश्ता उनकी टेबल पर रख दिया और कहा की 10 बजे मेरे बच्चे अपने मामू के साथ घूमने जा रहे है और रात तक वापस आएंगे, फिर मैंने उनको चुदाई का सिग्नल देने के लिए मुड़ कर उनकी तरफ़ अपनी गांड करके नीचे कुछ उठाने कि एक्टिंग करते हुये झुक गई मैंने पीछे से अपनी टी शर्ट पहले ही ऊंची करली थी जिससे उन्हें मेरी झांटों वाली चूत और गांड का नज़ारा नज़र आ जाए । मैंने तिरछी नज़रों से देखा तो पाया कि जेठ मेरे पीछे ही देख रहे हैं और उनका हाथ अपने लंड पर रखा है, मैंने अपनी झांटों वाली चूत और गांड का नज़ारा अमन को दिखा कर उनको गर्म करने का काम कर दिया था । यह सब करते हुये मेरी चूत भी गीली हो गई थी और उसमे से पानी निकल रहा था। मैं सीधी खड़ी हुई और अपने कमरे मैं चली गई बच्चो को देखने कि तैयार हुए कि नहीं। मेरे बच्चे जाने कि तैयारी मैं लगे थे । थोड़ी देर बाद जेठ कि आवाज़ आई कि उनको चाय दे दूँ, मैंने सोचा कि चाय देने का बाद मैं एक बार और अमन को अपनी झांटों वाली चूत और गांड का दीदार करा कर और गर्म करूँ । मैं चाय ले कर गई तो मैंने देखा नीचे कुछ समान फैला हुया है मैं समझ गई कि यह जेठ ने जानबूझ कर फ़ैलाया है मेरी चूत और गांड का दीदार करने के लिए, क्यूंकी जब मैं पहले आई थी तो वहाँ कुछ नहीं था । मैं उनके सामने चाय रख कर मुड़ी, मैंने टी शर्ट पीछे से पहले ही ऊंची करली थी और मैं झुक कर नीचे पड़ा हुआ समान उठाने लगी जैसे ही मैं झुकी तभी मुझे अपनी गीली चूत पर गर्म गोले जैसे महसूस हुआ मेरी तो जैसे जान ही निकल गई और मेरी चूत ने और पानी छोड़ दिया और मैं वहीं उसी पोज़िशन मैं रुक गई तभी जेठ ने बिना कुछ बोले मेरी कमर पकड़ ली और अपने गरम लंड का सुपाड़ा मेरी गीली हो चुकी चूत पर रगड़ने लगे और फिर एक धक्के मैं अपना आधा लंड मेरी चूत कि गहराई मैं उतार दिया मेरे मुंह से चीख़ निकलते निकलते बची, अगर मैं चीखती तो मेरे बच्चे आवाज़ सुन लेते और अमन के रूम का दरवाजा भी खुला हुया था, फिर अमन ने धीरे से अपना लंड थोड़ा बाहर निकाला और एक जोरदार धक्का मारकर पूरा साडे छे इंच लम्बा और 3 इंच मोटा लंड मेरी चूत मैं पेल दिया और अपना मुंह मेरे कान के पास लाकर धीरे से बोला, कब तक मेरे लंड के सब्र का इम्तिहान लोगी मेरी रानी आज उसके सब्र का बांध टूट गया उसने अपना रिज़ल्ट दे दिया, मैंने धीरे से कहा मुझे अभी छोड़ दो बाद मैं दिल खोल कर चोदना अभी दरवाजा खुला है और बच्चे नीचे आ सकते हैं तो अमन ने कहा की कोई नहीं आएगा अगर कोई आहट हो तो सीधी खड़ी हो जाना और मैं पीछे घूम जाऊंगा अभी न तुम नंगी हो न मैं। और फिर मेरे जेठ ने अपने दोनों हाथ आगे बढ़ा कर मेरी दोनों चुंचियाँ को टी शर्ट के उपर से कस कर पकड़ लिया और उन्हें मसलने लगा मैंने टी शर्ट के नीचे ब्रा नहीं पहनी थी तो मुझे बहुत अच्छा लग रहा था । मेरी चुंचियाँ मसलते हुये चूत मैं धक्के लगाना शुरू कर दिया मुझे अमन का लम्बा और मोटा लंड एक अलग ही मज़ा दे रहा था मेरे मुंह से सिसकारियाँ निकलने लगी मेरा तो दिल चाह रहा था की ज़ोर ज़ोर से आवाज़ करूँ पर बच्चे ऊपर कमरे मैं थे, मेरे जेठ का कडक लंड मेरी चूत की खुजली मिटा रहा था। क़रीब 7 मिनट तक धक्के मारने के बाद अमन ने अपने लंड का गाढ़ा गाढ़ा माल मेरी झांटों भरी चूत मैं उंधेल दिया, तभी मुझे जैसे होश आया की अमन ने तो कंडोम पहना ही नहीं था और अपनी पूरी मनी मेरी चूत मैं छोड़ दी मैं एक दम सीधी खड़ी हो गए और अमन से कहा की यह क्या किया अंदर ही छोड़ दिया तो वो बोला की डरो नहीं मैं तुम्हें एक गोली दूँगा वो खा लेना तो तुम्हारी माहवारी टाइम से आएगी । मेरी चूत से अमन का गाढ़ा गाढ़ा माल नीचे गिरने लगा, अमन ने अपने पास राखी एक नैप्किन उठा कर मेरी चूत को साफ किया। अभी तक मैंने अमन के लंड के दीदार नहीं किए थे क्यूंकी वो मुझे पीछे से चोद रहा था और अपना माल मेरी चूत में छोड़ने के बाद फ़ौरन अपना लंड लोवर के अंदर कर लिया था । मैं उसका लोवर नीचे कर उसका लंड देखना चाह रही थी की तभी नीचे डोर बेल बजी मेरा भाई मेरे बच्चों की लेना आये थे । मैंने बच्चों को आवाज़ दी की जल्दी से नीचे आओ और मैं बच्चों को छोड़ने नीचे गई, बच्चों को छोड़ कर वापस मुड़ी ही थी की फिर दुबारा बेल बजी मैंने गेट खोला तो सामने कमवाली बाई थी वो अंदर आ गई और अपना काम करने चली गई। फिर मैं उपर अपने कमरे मैं जाने लगी तो अमन ने मुझे रोक कर एक पैकेट दिया, मैंने कहा क्या है तो उन्होने कहा खुद देख लेना ।
 


Messages In This Thread
जेठ से चुदवाया और उनकी गांड मारी - Le Lee - 10-30-2018

Possibly Related Threads...
Thread:AuthorReplies:Views:Last Post
  आंटी की गांड जैसे मुलायम चादर Le Lee 1 232 03-18-2019
Last Post: Le Lee
  दोस्त की मम्मी ने मुझसे अपनी गांड मरवाई Le Lee 1 310 03-18-2019
Last Post: Le Lee
  दीप्ती की चूत और गांड दोनों मारी Le Lee 1 297 03-04-2019
Last Post: Le Lee
  पड़ोसन की चूत और गांड मारी Le Lee 1 183 03-04-2019
Last Post: Le Lee
  सास की चूत के साथ गांड का स्वाद Le Lee 1 713 02-14-2019
Last Post: Le Lee
  प्यासी आंटी की गांड Le Lee 2 648 01-24-2019
Last Post: Le Lee
  सेक्सी पड़ोसन की गांड के मजे Le Lee 1 641 01-01-2019
Last Post: Le Lee
  पड़ोसन की गांड उसी के ब्यूटी पार्लर में मारी Le Lee 1 547 01-01-2019
Last Post: Le Lee
  बहन की गांड मे अपना लंड डाला Le Lee 1 1,197 12-27-2018
Last Post: Le Lee
  मेने अपनी वाइफ को अपने दोस्त से चुदवाया Le Lee 26 2,493 09-27-2018
Last Post: Le Lee