गर्लफ्रेंड को जंगल में ठोका
गर्लफ्रेंड को जंगल में ठोका

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राहुल अग्रवाल है और में गुजरात के सूरत शहर में रहता हूँ. में अच्छी फेमिली से हूँ और एक टेक्सटाईल कंपनी में जॉब करता हूँ. मेरी यह तीसरी कहानी है. ये बात कुछ दिन पुरानी है, मैंने अपने एक काश दोस्त से एक लड़की का फोन नंबर माँगा तो उसने मुझे एक नंबर दिया और कहा कि यह लड़की फ्रेंडशिप करेगी और मजे भी देगी. फिर मैंने उसको फोन किया, लेकिन उस समय वो स्कूल मेंथी तो उसने कहा कि शाम को बात करते है, तो मैंने कहा कि ओके.

फिर बाद में मैंने उसको शाम को कॉल किया और फ्रेंडशिप का ऑफर रखा, तो पहले तो उसने नहीं कहा तो मैंने उससे कहा कि 2 दिन में सोचकर बताना.फिर मैंने उसको शाम को रोमांटिक मैसेज भेजा और उसके भी कुछ मैसेज आए, तो में समझ गया कि यह पक्का दोस्ती करेगी. फिर बाद मैंने उससे पूछा कि आपका जवाब क्या है? तो उसने हाँ कहा. फिर धीरे-धीरे हम 1 महीने में नजदीकी दोस्त बन गये और रोज रात को फोन पर बात करते और पहले थोड़े दिन तक तो हमने नॉर्मल बात की.एक दिन मैंने उससे पूछा कि तुमने कभी सेक्स किया है? तो वो बोली कि नहीं, लेकिन कभी-कभी उंगली डालती हूँ.

फिर हम फोन पर नॉनवेज बातें करते और सेक्स करते, तो वो अपनी चूत में उंगली डालती और में अपने हाथ से मुठ मारता और फिर हमने ऐसा 5-6 दिन तक किया.फिर एक दिन मेरे मन में उसको चोदने का ख्याल आया तो मैंने एक दिन रविवार को शाम को उसको मिलने बुलाया और उससे कहा कि चलो घूमने चलते है. फिर उसने हाँ कर दी और फिर हम घूमनेचले गये. दोस्तों शायद आप जानते होंगे कि सूरत में हज़ीरानाम की जगह है, वो जंगल जैसी जगह है और वहाँ शाम या रात को ज्यादा भीड़भाड नहीं होती है.फिर में उसको वहाँ पर ले गया.

अब वो मेरी बाईक पर एकदम चिपककर बैठ गयी थी, उसके पूरे 34 साईज के बूब्स मेरी पीठ पर टच हो रहे थे. अब मेरा लंड धीरे-धीरे मेरी पैंट में ही खड़ा होने लगा था. फिर मैंने सोचा कि आज मौका अच्छा है और आज इसकी ज़रूर चुदाई करूँगा. फिर धीरे-धीरे मैंने उसके बूब्स को टच करना स्टार्ट किया.अब वो मस्त होने लगी थी और उसके निपल्स टाईट होने लगे थे. अब में समझ गया था कि आज यह मुझसे जरूर चुदेगी. फिर मैंने उसको किस किया और उसकी टी-शर्ट के ऊपर से उसके बूब्स दबा रहा था.

अब वो भी मुझे किस कर रही थी, अब धीरे-धीरे अँधेरा होने लगा था.फिर उसने मुझसे कहा कि राहुल मुझे कुछ हो रहा है, तो मैंनेपूछा कि क्या हो रहा है डार्लिंग? तो वो बोली कि मुझे सेक्स करने का मन कर रहा है, तो मैंने कहा कि मेरा भी बहुत मन हो रहा है. फिर मैंने मौका देखकर अपनी बाइक एक सुनसान गली में घुसा दी, जहाँ कोई आता जाता ना हो. फिर उसने पूछा कि कहाँ ले जा रहे हो? तो मैंने कहा कि तुम सिर्फ़ देखती रहो.मैंने अच्छी और साफ़ जगह देखकर अपनी बाइक रोक दी और उसको उतरने को कहा.

अब में इतना गर्म हो चुका था कि उसके उतरते ही मैंने उसको ज़ोर से पकड़ लिया और उसके लिप्स चूसने लगाऔर उसके बूब्स दबाने लगा. अब वो भी मेरा साथ दे रही थी. फिर उसने मेरी जीन्स की चैन खोलकर मेरा 7 इंच लंबा 3 इंच मोटा लंड बाहर निकाला और अपने हाथ में लेकर हिलाने लगी. अब में उसके निप्पल ज़ोर-ज़ोर से दबाने लगा था और अब वो एकदम गर्म हो चुकी थी. अब उसके मुँह से आआआआआआआहहहह उईईईईई की आवाजे आने लगी थी.

फिर मैंने उसी पोज़िशन में खड़े होकर उसकी टी-शर्ट उतार दी, ओह माई गॉड क्या बूब्स थे उसके? ऐसा लग रहा था जैसे ब्रा से निकलकर बाहर आना चाहते हो. उसने लाल कलर की ब्रा पहन रखी थी. अब उसके बूब्स देखकर मेरा लंड पागल हो गया था और अब मेरे सब्र का इंतजार ख़त्म हो चुका था और उसका भी और अब वो बार बार-बोल रही थी कि राहुल अब मुझसे और इंतजार नहीं होता. प्लीज- प्लीज फक मी.

फिर मैंने उसका स्कर्ट उतारा और उसकी पेंटी में अपना एक हाथ डाला. अब उसकी चूत बिल्कुल गीली हो चुकी थी और उसमें से पानी निकल रहा था. उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था और एकदम क्लीन चूत थी.फिर मैंने उसको नीचे लेटाकर उसकी चूत को चाटना चालू किया.अब वो चिल्ला रही थी आआआआआआहह. फिर मैंने ज़ोर-ज़ोर से मेरी उंगली उसकी चूत में डाली, तो फिर से उसका पानी निकल गया. अब मेरा लंड जो कि 8 इंच का हो चुका था, वो अब उसको चोदने के लिए पागल हो चुका था.

फिर में उसकी चूत में जैसे ही मेरा लंड डालने लगा, तो वो चिल्ला उठी आआआआअ धीरे करो दर्द हो रहा है. तो मैंने उसके दर्द की परवाह किए बिना एक और जोरदार झटका मारा और मेरा पूरा लंड उसकी चूत के अंदर डाल दिया. अब वो मस्त होने लगी थी और बोलने लगी कि चोदो राहुल और ज़ोर से चोदो, आज मेरी चूत को पूरी फाड़ दो, प्लीज प्लीज प्लीज राहुल फुक मी हार्ड बोल रही थी, बहुत मज़ा आ रहा है जानू, आज मेरी पूरी चुदाई करो, में पहले कभी नहीं चुदी हूँ. आज तुम मुझे जमकर चोदो.अब में उसको मस्ती में चोद रहा था, मैंने उसके बूब्स इतने दबाए कि उसकी निप्पल पूरी लाल हो चुकी थी.

फिर मैंने उसको ज़ोर-ज़ोर से चोदना चालू किया और 20 मिनट तक लगातार चोदता रहा. अब वो इतने टाईम में 3 बार झड़ चुकी थी. अब उसकी चूत पानी से पूरी भर गयी थी. अब मेरा भी पानी निकलने वाला था, अब उसकी चूत से खून भी निकलने लगा था.फिर मैंने अपना लंड बाहर निकाला और उसके मुँह में दे दियाऔर मेरा पूरा पानी उसके मुँह में ही निकाल दिया, तो वो मेरा पूरा का पूरा पानी बड़े मजे से पी गयी. दोस्तों यह मेरी गर्लफ्रेंड के साथ मेरी पहली चुदाई थी और आज भी दोस्तों हम दोनों को जब कभी भी कोई मौका मिलता है, तो हम सेक्स करते है और खूब मजा करते है.


Read More Related Stories
Thread:Views:
  गर्लफ्रेंड की हंसी को चीखों में बदला 1,609
  [Indian] मेरी सासुजी माय स्वीट गर्लफ्रेंड 12,094
  शादीशुदा गर्लफ्रेंड 6,355
  गर्लफ्रेंड की सहेली आकृति की चुदाई 5,161
  मेरी गर्लफ्रेंड सुमन की चुदाई 3,652
  गर्लफ्रेंड की चचेरी बहन और उसकी सहेली 7,218
  मेरी गर्लफ्रेंड दीपिका 2,021
  जंगल में मंगल 6,042
  मेरी गर्लफ्रेंड दीपिका 2,039
 
Return to Top indiansexstories