Post Reply 
ऐश्वर्या की ऐश
11-07-2010, 12:25 PM
Post: #1
ऐश्वर्या की ऐश
हैलो दोस्तों मेरे संबंध मेरी चाची के साथ हैं जिनका नाम ऐश्वर्या हैं। मैं अपनी चाची को खूब चौदता हूँ और जी भरकर गांड मारता हूँ। लेकिन मुझसे पहले भी उनका संबंध एक आदमी से रह चुका हैं उसी की कहानी आपको सुना रहा हूँ।

ऐश्वर्या एक घरेलू महिला हैं जिसकी उम्र लगभग ४५ साल की और कद ५.२ इंच हैं। उसका वजन अधिक हैं जिससे वह मोटी ज्यादा दिखती हैं। इसके बावजूद वह एक गोरी चिट्टी सेक्सी महिला हैं जिसे देखकर हर दीवाने का लंड खड़ा हो जाये। उसकी तीन लड़कियाँ तथा एक लड़का हैं। दो लड़कियों की शादी हो गई हैं तथा एक लड़की रक्षा जिसकी उम्र १९ साल तथा लड़के राजू की उम्र १५ साल हैं।

इस उम्र में भी ऐश्वर्या पर सेक्स का बुखार कम नहीं हुआ हैं उलटे और अधिक बढ गया हैं। ऐश्वर्या के पति रमाकांत का वजन भी ज्यादा हैं और अब उनमें वो बात नहीं रही जो जवानी में होती हैं। इसलिये ऐश्वर्या संतुष्ट नहीं होती हैं।

ऐश्वर्या अपने नाम के अनुरूप ही सजती संवरती हैं और किसी महारानी से कम नहीं लगती। आज ऐश्वर्या कुछ ज्यादा ही सज-संवर रही थी। पति ने पूछा तो बताया कि आज के दिन हम पहली बार मिले थे इसलिये सज-संवर रही हूँ। आज हम फिर हमारी सुहागरात की याद ताजा करेंगें।

रमाकांत मुस्कुराकर बोले- क्यों नहीं मेरी रानी। आज बहुत दिनों बाद हम सेक्स का मजा लेंगें।

ठीक हैं ठीक हैं ! पर जल्दबाजी मत करना। प्यार से रगड़ना मुझे ! वरना तुम पप्पी झप्पी लोगे और सो जाओगे। मेरी चूत प्यासी रह जायेगी।

अरे तुम चिंता मत करो ! आज मैं ताकत के कैप्सूल खा लूंगा और तुम्हें जी भर कर चौदूंगा।

दोनों हंसने लगे। रमाकांत ने आगे बढकर ऐश्वर्या के रसीले होंठों को चूम लिया। शाम होते होते ऐश्वर्या रमाकांत का इंतजार करने लगी। बच्चे ऐश्वर्या से पूछने लगे कि आज क्या बात हैं जो आप इतना सज संवरकर बैठी हैं। किसी पार्टी में जाना हैं क्या?

अरे नहीं बच्चों ! बस आज मेरा मन बहुत खुश हैं इसलिये थोड़ा सज संवर लिया! ऐश्वर्या बच्चो को समझाते हुए बोली।

पर रक्षा समझ गई कि आज कुछ गड़बड़ होने वाली हैं।

रात में सभी ने खाना खाया और अपने अपने कमरे में चले गये। ऐश्वर्या ने आज अपने कमरे में गुलाब जल छिड़क रखा था। भीनी-भीनी खुश्बू पूरे कमरे में महक रही थी। रमाकांत और ऐश्वर्या दोनों अपने बिस्तर पर बैठे बातें करने लगे।

ऐश्वर्या के हाथ रमाकांत के हाथों में थे। रमाकांत ने एक हाथ ऐश्वर्या के बालों में डाला और ऐश्वर्या के भीगे होंठों को चूसने लगे। रमाकांत ने ऐश्वर्या की साड़ी खोल दी। ऐश्वर्या ने भी तेजी दिखाई और रमाकांत के कपड़े खोल दिये। अब ऐश्वर्या सिर्फ ब्लाउज और पेटीकोट में थी तो रमाकांत सिर्फ अण्डरवियर पहने थे। उनका लंड अण्डरवियर में से अपनी झलक दिखला रहा था। रमाकांत ने ब्लाउज और पेटीकोट भी खोल दिया। ऐश्वर्या पूरी तरह नंगी हो गई क्योंकि उसने ब्रा और पेंटी नहीं पहनी थी। रमाकांत ऐश्वर्या के प्रत्येक अंग को चूमने लगे। ऐश्वर्या उत्तेजित होने लगी। रमाकांत ने ऐश्वर्या के बडे -बडे बूब्स को खूब चूसा। एक एक अंग को चूमते चूमते रमाकांत के होंठ ऐश्वर्या की चूत को चूसने लगे। ऐश्वर्या बुरी तरह उत्तेजित हो गई। ऐश्वर्या ने एक हाथ से रमाकांत की अण्डरवियर में हाथ डाला और उनका लंड पकड लिया।

ऐश्वर्या ने रमाकांत को उठाया और उनका लंड अपने मुंह में भर लिया। रमाकांत तड़पने लगे पर ऐश्वर्या और जोर-जोर से लंड चूसने लगी। रमाकांत को झड़ने में ज्यादा देर नहीं लगी और सारा वीर्य ऐश्वर्या के मुंह में भर दिया। ऐश्वर्या एक-एक बूंद चाट गई।

ऐश्वर्या ने रमाकांत के होंठों को अपने होंठो के बीच दबा लिये और जोर जोर से चूसने लगी। गर्दन से नीचे आने पर ऐश्वर्या ने रमाकांत के छोटे-छोटे निप्पल को बुरी तरह से चूस लिया। रमाकांत की तड़प बढ़ गई। ऐश्वर्या रमाकांत के शरीर को चूमते हुए फिर लंड तक पहुंच गई और ढीले लंड को मुंह में भरकर चूसने लगी। बहुत देर चूसने के बाद रमाकांत का लंड फिर से खड़ा होने लगा। रमाकांत जोश में आ गये और ऐश्वर्या को बिस्तर पर लिटाकर अपना लंड ऐश्वर्या की चूत में डाल दिया। रमाकांत धक्के पर धक्के लगाने लगे।

ऐश्वर्या को मजा आने लगा और वह कहने लगी- आज तो इस चूत की धज्जियां उड़ा दो मेरे सरकार ! फाड़ कर रख दो इसे !

इतना सुनते ही रमाकांत ने जोर जोर से धक्के लगाना शुरू किये और सारा माल एक ही झटके में ऐश्वर्या की चूत में भर दिया ।

ऐश्वर्या अभी तक झड़ी नहीं थी। लेकिन रमाकांत का लंड ढीला हो चुका था। ऐश्वर्या फिर से चूदाने के मूड में थी इसलिये फिर से उसने लंड को अपने मुंह में भर लिया। बहुत देर तक लंड चूसने के बाद भी लंड खड़ा नहीं हुआ। ऐश्वर्या फिर मन मारकर लेट गई। रमाकांत थक गये थे इसलिये उन्हें फटाफट नींद आ गई लेकिन ऐश्वर्या अभी भी प्यासी थी। उसने अपनी उंगलियों को ही चूत में डाल-डालकर अपना पानी निकाल लिया।

सुबह रमाकांत बडे फ्रेश लग रहे थे लेकिन ऐश्वर्या अनमनी सी लग रही थी। ऐश्वर्या ने रमाकांत से ज्यादा बात नहीं की और उन्हें खाना खिलाकर काम पर भेज दिया। दोनों बच्चे स्कूल चले गये। वह घर पर अकेली बोर होने लगी। वह बार-बार यहीं सोच रही थी कि कैसे अपनी प्यास बुझाई जायें। इनका लंड तो अब डालते से ही झड़ जाता हैं। क्या किसी और से चूदवा लूं? लेकिन उसका मन नहीं मान रहा था। आज पहली बार किसी पराये मर्द के लिये उसके मन में ख्याल आया था।

ऐश्वर्या अभी इसी सोच में पड़ी हुई सोफे पर लेटी थी। तभी दरवाजे की घंटी बजी। ऐश्वर्या ने दरवाजा खोला तो सामने एक आदमी खड़ा था, जिसकी उम्र लगभग ५० साल की होगी। उसकी सफेद दाढ़ी थी तथा सिर पर बाल बहुत कम थे। उसने बताया कि रमाकांत जी ने उसे टॉयलेट की सफाई के लिये भेजा हैं।

ऐश्वर्या उस आदमी को टॉयलेट तक लेकर गई। ऐश्वर्या ने उसका नाम पूछा तो उसने अपने नाम कालू बताया। कालू अपने काम में लग गया। कुछ ही देर में उसका सारा काम हो गया।

काम होने के बाद कालू के कपडे गीले हो चुके थे। वह बाथरूम में गया और अपने शर्ट और पेंट उतारकर शॉवर में नहाने लगा। उसने दरवाजा आधा ही बंद किया था। उसने अंदर कुछ नहीं पहना था। वह नंगा होकर शॉवर का आनंद लेने लगा।

काम हुआ या नहीं, यह देखने के लिये ऐश्वर्या बाथरूम तक पहुंची। बाथरूम तक पहुंची तो उसके होश उड़ गये। कालू नंगा होकर नहा रहा था। उसका लंड देखकर उसकी सांसे तेज हो गई। कालू ने ऐश्वर्या को देख लिया था पर वह यह जता रहा था कि उसने उसे देखा ही नहीं। ऐश्वर्या से कुछ बोलते नहीं बनी। अभी भी उसकी सांसे तेज चल रही थी।

कुछ देर बाद ऐश्वर्या संभली तो उसने कालू को बोला- यह तुम क्या कर रहे हो। तुम्हें सिर्फ सफाई के लिये बुलाया था, नहाने धोने के लिये नहीं।

कालू हकलाकर बोला- मुझे माफ कर दो मेमसाब ! मेरे कपड़े और बदन गंदे हो गये थे इसलिये सोचा कि दोनों को साफ कर लूं।

ऐश्वर्या बोली- ठीक हैं, ठीक हैं। जल्दी करो। मैं अपने बेडरूम में जा रही हूं। काम हो जाये तो पैसे ले जाना।

कालू- जी मेमसाब।

कालू मन ही मन खुश हो रहा था कि मेमसाब उससे नाराज नहीं हुई। हो न हो उसे भी लंड की चाहत जरूर होगी वरना इतनी देर में तो कोई भी उसे खरी खोटी सुनाता और घर से निकाल देता।

इधर ऐश्वर्या अपने कमरे में जाकर बिस्तर पर बैठ गई। उसके मन में कालू का नंगा शरीर ही दिख रहा था। वह अपने को काबू में नहीं रख पा रही थी। उसने अपने कपड़े खोले और गाउन पहन लिया ।

कालू नहाकर बाहर निकला। उसने कपड़े भी नहीं पहने और ऐश्वर्या के कमरे की ओर चला आया। अंदर ऐश्वर्या गाउन पहने अपने बिस्तर पर लेटी थी। वह आंखे बंद करके मन ही मन में कालू के बारे में सोच रही थी। कालू ने देखा कि दरवाजा हल्का सा खुला हैं। उसने अंदर झांका तो ऐश्वर्या आंखे बंद करके लेटी थी।

इस अवस्था में देखकर उसके मन में भी सेक्स का बुखार चढ़ने लगा। उसका लंड तनतनाकर ७ इंच का हो गया। वह दबे पांव ऐश्वर्या तक गया और उसके होंठों पर होंठ रख दिये।

ऐश्वर्या बूरी तरह चौंक गई। वह सोच भी नहीं सकती थी कि कालू आकर उसके होंठों को चूम लेगा। उसने सोचा कि कालू को डांटकर भगा दे लेकिन अपनी हवस पर काबू नहीं रख पाई और कालू से चिपक गई। कालू ने भी उसे बाहों में भर लिया और उसकें होंठों का रस चूसने लगा। ऐश्वर्या पर चूदवाने का नशा इस तरह चढ गया था कि वह एक भंगी के बदबूदार मुंह को अपने मुंह से लगाकर चूमाचाटी कर रही थी।

बहुत देर तक ऐश्वर्या के होंठों की मां चोदने के बाद कालू ने ऐश्वर्या का गाउन खोलकर उसे नंगा कर दिया। उसे ऐश्वर्या की बड़ी लेकिन प्यारी सी चूत दिखाई दी जो पूरी तरह क्लीन शेव्ड थी। कालू ने चूत को अपने होंठों से लगाकर बूरी तरह चूसने लगा। ऐश्वर्या पागल सी हो गई।

ऐश्वर्या इतनी उत्तेजित हो गई थी कि वह एक भंगी से भी चूदवाने को तैयार थी। कालू का लंड देखकर ऐश्वर्या खुश हो गई कि आज यह लंड उसकी प्यास बुझा देगा। कालू ने अपना लंड ऐश्वर्या के मुँह में दे दिया। कालू भी तड़प उठा पर यह सोचकर उसे अपनी जिंदगी पर गर्व होने लगा कि एक भंगी भी किसी अप्सरा को, चाहे वह मोटी ही क्यों न हो, चौद सकता हैं।

आज हवस के नशे में एक मालदार महिला ने अपनी इज्जत एक भंगी के हाथों में दे दी। ऐश्वर्या पूरी तरह गर्म हो गई थी। कालू उसे अब अपना सब कुछ नजर आ रहा था।

ऐश्वर्या - आह कालू। अब देर मत करों। अपना लंड मेरी चूत में डालो और मेरी प्यास बुझा दे मेरे राजा ।

कालू ने ऐश्वर्या की चूत का निशाना लगाया और एक ही झटके में पूरा लंड ऐश्वर्या की चूत में डाल दिया। ऐश्वर्या चीख पड़ी। आह कमीने धीरे से डाल ! मार डालेगा क्या !

कालू तो पागल हो गया था। इस स्वर्गीय आनंद में वह जोर-जोर से धक्के लगाने लगा। ऐश्वर्या का पूरा शरीर हिलने लगा। इतना आनंद तो उसे रमाकांत से चुदाई कराने पर भी कभी नहीं आया। कालू ने पूरी तरह से ऐश्वर्या की चूत को भौंसड़ा बना दिया। आज ऐश्वर्या तीन बार झड़ चुकी थी। कालू ने तेज झटके मारे और सारा माल ऐश्वर्या की चूत में डाल दिया। ऐश्वर्या अपनी चुदाई से पूरी तरह संतुष्ट थी।

दोनों एक साथ चिपककर लेटे रहे। थोड़ी देर बाद कालू फिर चालू हो गया। उसका लंड फिर खड़ा हो गया। उसने ऐश्वर्या को उलटा लिटाया और उसकी गांड के छेद पर लंड रखकर धक्का लगाया। ऐश्वर्या दर्द से चीखने लगी। दो तीन झटको में कालू ने लंड ऐश्वर्या की गांड में घुसा दिया।
ऐश्वर्या दर्द से चीख रही थी। कुछ देर में उसे भी मजा आने लगा। कालू ने ५ मिनट तक ऐश्वर्या की गांड मारी फिर तेज धक्कों के साथ अपने वीर्य से ऐश्वर्या की गांड को भर दिया। कुछ देर तक कालू और ऐश्वर्या चिपककर लेटे रहे। फिर कालू उठकर जाने लगा।

कालू ने बाथरूम में जाकर अपने कपड़े पहन लिये। कालू जाने लगा तो ऐश्वर्या ने कालू को होंठों पर लंबा चुम्मा दिया और ढेर सारे पैसे भी दिये। कालू खुशी-खुशी चला गया और ऐश्वर्या पूरी तरह संतुष्ट होकर अपने कमरे में जाकर मीठी नींद में सो गई ।

Visit this user's websiteFind all posts by this user
Quote this message in a reply
Post Reply 


Possibly Related Threads...
Thread:AuthorReplies:Views:Last Post
  ऐश्वर्या की ऐश Sexy Legs 2 4,291 07-31-2011 01:37 PM
Last Post: Sexy Legs