Post Reply 
एक अनोकी कहानी
09-21-2010, 09:50 PM
Post: #1
एक अनोकी कहानी
आज मैं अपको एक ऐसि कहनि सुनने जा रहा हु जो मैने अपने अखो से देखा था। ये कहनि आज से दो महिना पहले कि है तब मैं अपने घर गया हुअ था। इस्से पहले कि मैं अपनि कहनि सुरु करु अपको अपने सौसेन और उस ओलद मन का परिचय करा दु। मेरि सौसेन का नमे कोमल है। जिसकि उमर बिस साल कि है। उसको देख के कोयि भि कह सकता है कि उसका नमे उसके लिये बिलकुल हि सुत करता है। उसका गनद गोरा और हिघत फ़िवे फ़ित सिक्स इनच कि है। चेहरा इतनि सुनदर है कि जिसको देखने के बाद हर कोइ अपने दिल मे उतरना चहता है।और दुसरा अदमि जिसने उसका रपे किया वो मेरे उनसले के ममा के लदका है। जिनकि उमर सतर साल कि है। लेकिन आज भि बिलकुल हि हत्ता कत्ता है।

अब मैं अपको उस दिन के तरफ़ ले चलता हु। मैं उन दिनो अपने घर गया हुअ था। उस समय मेरे घर पे मेरे चचि और सौसेन और उस ओलद मन जिसे हम तौ कह के बुलते है, के अलवा और कोइ नहि था। उस दिन दोपहर मे मैने देखा कि मेरि चचि जिनकि उमर चलिस साल कि है चत पर एक रूम मे सियि हुयि थि। मैं वहि पास के रूम मे लेता हुअ था। तौजि मेरे रूम मे अये और मुझे देखा और चचि के रूम के तरफ़ चले गये। सयद उनहोने समझा कि मैं सो रहा हु। रूम मे जने के बाद जैसे हि उनहोने दरवजा बनद किया मैने दरवजे के अवज को सुन के समझ गया कि आज कुछ गदबर होने वला है। मैने सोचा कि कयो ना देखा जये। मैं उथ के उस कमरे के विनदोव पर गया और अनदर झका तो देखा कि जैसे हि तौजि चचि के पास जके बैथे चचि सिदा हो गयि और बोलि ' आप आ गये?' तौजि ने बोला हा मैं आ गया। तब चचि ने पुछा कि कोमल कहा है तो तौजि ने बतया कि वो निचे सो रहि है। अब तौजि ने चचि के पैर पर अपना हनथ फ़ेरना सुरु कर दिया। और धिरे धिरे चचि के कपदो को उपर उथना सुरु कर दिया। चचि धिमि धिमि मुसका रहि थि। तौजि ने जैसे हि चचि के सदि और सया को कमर तक उथया तो चचि के चुद को देख के बोले कि वह कया जिसम पया है तुमने। और ये कहते हुये अपने उन्नगलियो से चचि के कोमल बलो को सहलने लगे। चचि ने अपनि अखे बनद कर लिया और अपने हनथ को तौ जि के लुनगि के अनदर दल दिया और उनके लुनद को बहर निकल के उसे सहलने लगि।

अब तौजि ने अपने हनथ को वहा से हता लिया और चचि ने भि अपने हनथ को हता लिया। अब तौजि ने चचि के जनघो को जो कि बिलकुल हि एक दुसरे से सते हुये थे को थोदा सा फ़ैलया और अपने मुह से थोदा सा थुक निकल के चचि के चुद पे रगर दिया। इसके बाद तौजि चचि के जनघ पे बैथ गये। और अपने लुनद को एक हनथ से पकद के जैसे हि चचि के चुद पे सतया चचि ने अपने दोनो हनथो से चुद को फ़ैला के तौजि के लुनद को अपने चुद का रसता दिखया। अब तौजि ने लुनद को चचि के चुद के चेद पे रख के जोर से कमर को झतका मरा और चचि के मुह से आआआह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्ह कि अवज निकल गयि। मैने देखा कि उनका लुनद चचि के चुद मे चला गया था। अब तौजि चचि के उपर लेत गये और धिरे धिरे अपने कमर को हिलने लगे। चचि उनके हर एक झतके के साथ तेज सासे ले रहि थि। इस तरह से कुछ देर तक तौजि चचि कि चुदै करते रहे। लगभग पनदरह मिनुत के बद तौजि चचि से बोले कि कोमल अब जवन हो गयि है। और जोर से एक झतका मरा चचि हाआआआआआआआआआआऊऊऊऊऊऊ कि अवज निकलि। अब तौजि ने बोला आज रात मे मैं उसका रपे करुनगा तुम उसे भेज देना चचि ने अपने गरदन हिला के हमि भरि। अब तौजि का पुरा लुनद चचि के चुद मे चला गया था। अब तौजि ने चचि के होतो को चुसना सुरु किया और अब जोर जोर से झतके लगने सुरु कर दिये। अब मैं समझ गया था कि तौजि का गरम सपुरम चचि के चुद मे गिरने वला था। कुछ देर के बाद चचि भि अपने कमर को उथा उथा के तौजि का पुरा साथ देने लगि और ये दौर पाच मिनुत तक चला इसके बाद दोनो लोग सानत पद गये तो मैं समझ गया कि अब तौजि का सपुरम चचि के चुद मे गिर गया था। अब मैं अपने रूम मे चला गया और सो गया।

रात के समय चचि ने खना बनया और कोमल ने मुझे और तौजि को खना खिलया। खना खते समय मैने देखा कि तौजि कि नजर मक्सिमुम तिमे खना पर कम कोमल के उपर जयदा रहति थि। खना देने के लिये जैसे हि वो निचे झुकति थि तो तौजि उसके बूबस को देखते रहते थे। खना खने के बाद मैं अपने रूम मे उपर चला गया। जैसे हि तौजे उपर जने के लिये तैयर हुये तो उनहोने कोमल से एक लोते मे पनि और तेल के दिबे को उनके कमरे मे लने के लिये बोला। कोमल ने बोला थिक है तौजि मैं लेके उपर पहुनचा दुनगि। खना खने के बाद कोमल एक लोते मे पनि लेके और दिबे मे तेल लेके जैसे हि तौजि के पास जने लगि तो चचि ने बोला कि 'एखो वो तुमहरे बाप के समन है दुसरे एक घर के होके भि पुरे दिन खेतो मे देख रेख करते है पुछ के तुम उनके सरिर मे तेल लगा देना' कोमल ने बोला 'थिक है'।इधर तौजि उसका इनतजर कर रहे थे। जैसे हि वो रूम मे गयि तो तौजि ने उस्से बोला कि अगै रख दो। कोमल ने बोला तौजि कया मैं अपके सरिर का मलिस कर दु। तो तौजि ने बोला कि अछा होता कि कर देति तो उसने बोला थिक है मैं कर देतु हु। और वो दरवाजा को सता के तौजि के बगल मे बैथ गयि। तौजि ने पहले उसे अपने पैर मे तेल लगने के लिये बोला। जब उसने पैर मे तेल लगा दिया तो हनथ मे तेल लगने के लिये बोला।

Hollywood Nude Actresses
Disclaimer : www.indiansexstories.mobi is not in any way responsible for the content I post, for any questions contact me.
Find all posts by this user
Quote this message in a reply
09-21-2010, 09:51 PM
Post: #2
RE: एक अनोकी कहानी
हनथ मे तेल लगने के बाद तौजि ने पिथ और कमर मे तेल लगवया।इसके बाद अपने सिर पे तेल रखवया। जब पुरे बदन मे तेल लग गया तो तौजि ने कोमल का हनथ पकद के अपने लुनद को पकदते हुये बोला कि जब पुरे सरिर मे तेल लगा दिया है तो इसमे भि तेल लगा दो।कोमल ने अपना हनथ वहा से हता लिया। तौजि ने दोबरा उसके हनथ को पकदा और अपने लुनद को पकदा दिया और उपर निचे हिलने लगे। अब वो उथ के बैथ गये और कोमल को बेद पे पतक दिया। बेद पर पतकने के बाद एक हि झतके मे उनहोने कोमल के सकिरत और पैनति को उतर दिया। अब उनहोने कोमल को उलता लिता दिया। अब कोमल का गानद साफ़ दिख रहा था। कोमल वैसे तो बिरोध कर रहि थि लेकिन उसका असर कुछ भि नहि पद रहा था। अब तौजि ने दिबे से तेल निकल के कोमल के गानद मे दल दिया और कोमल के जनघ पे बैथ गये। अब उनहोने अपने लुनद को कोमल के गनद पे सतके एक जोर के झतका मरा और कोमल के मुह से एक जोर कि अवज निकलि आआआआह्हह्हह्हह्हह्हहमाआआआआआआआ अब तौजि अपने कमर को धिरे धिरे हिलने लगे और कोमल आआआह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्ह आआअह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्ह ऊऊओआआआआआआ ऊऊह्हह्हह्हह्हह्हह्हह ईईईईईईईइस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्स ईईईस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्स कि अवज के साथ सिसकि लेने लगि। इस तरह के अवज से तौजि का उमनग तो जैसे और भि बध रहा था। तौजि ने अब कुछ देर के बाद अपने कमर के सपीद को बधा दिया और कोमल और जोर के साथ आआआआआअह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्ह आआआआआआऔऊऊऊऊऊ आआआऊऊऊऊऊनाआअ औऊऊऊऊऊऊऊऊ ऊओह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह आआआह्हह्हह्हह्हह कि अवज के साथ चिला रहि थि। कुछ देर के बाद मैने देखा कि तौजि का पुरा लुनद कोमल के गनद मे चला गया था। अब तौजि जोर जोर से झतके मार रहे थे और कुछ देर के बाद वो कोमल के उपर धेर हो गये कोमल भि सानत पद गयि तो मैं समझ गया कि तौजि ने अपने सपुरम को कोमल के गानद मे गिरा दिया है।

अब तौजि ने कोमल के तोप को खोल दिया और इसके बाद उसके बरा को खोल दिया। सारे कपदे उतरने के बाद तौजि ने अपने लुनद को कोमल के गनद से निकल दिया और उसके उपर से हत गये। अब तौजि बेद से उतर के खदे हो गये और कोमल को पेसब करने के लिये उथने के लिये बोला। कोमल तौजि के साथ पेसाब करने के लिये गयि। वहा तौजि ने कोमल के चुद को अपने पेसाब से धोया और तब कोमल ने बैथ के पेसब किया। पेसब करने के बाद दोनो रूम मे वपस अये। अब तौजि बेद पे बैथ गये और कोमल के हनथ को पकद के अपने लुनद को पकदा दिया और बोले कि अभि तुम मेरि अधि औरत बनि हो पुरि औरत बनौनगा लो ये थनधा पद गया है इसे गरम करो इसे अपने मुह मे ले के चुसो। कोमल ने तौजि के लुनद को अपने हनथ मे लेके कुछ देर तक देखति रहि तब अपने मुह मे लेके चतने लगि।

कुछ देर के बाद अब वो लुनद को अपने मुह के अनदर बहर करने लगि।इधर तौजि अब हित हो रहे थे। कुछ देर के बाद तौजि ने कोमल के मुह से लुनद को निकल दिया और उसे लेतने के लिये बोला। वो बेद पर लेत गयि। तौजि उसके चुद को कुछ देर तक देखते रहे और तब दिबे से तेल निकल के पहले कोमल के चुद को तेल से पुरि तरह से भिनगो दिया तब अपने लुनद जो कि लगभग सात से आथ इनच का लमबा था, को भि दिबे मे दल दिया।दिबे से निकलने के बाद तौजि ने अपने लुनद को कोमल के चुद पर रख के उसे फ़ैलने के लिये बोला। कोमल ने अपने चुद को फ़ैला दिया। तौजि ने एक हलके से झतके के सथ लुनद के अगले हिनसे को अनदर ले जने मे तो सफ़ल हुये।अब जैसे हि अपने लुनद को थोदा और अनदर करने के लिये एक जोर का झतका मरा तो कोमल पुरि तरह से सिहर उथि। तौजि ने बोला पहले थोदा पैन होगा बाद मे बहुत मजा अयेगा। लेकिन इसमे हि कोमल कि हलत खरब हो रहि थि। अब तौजि ने अपने दोनो हनथो मे तेल लगया और कोमल के दोनो चुचिओ पर तेल लगने के बाद दोनो को अपने मुह मे लेक ए बरि बरि से चुसना सुरु कर दिया। कुछ देर तक ऐसा करने के बाद मैने देखा कि कोमल ने अपने पैर को धिला कर दिया और अपने जनघो को फ़ैला दिया। अब तौजि ने अपने कमर को धिरे धिरे हिलना सुरु किया। कोमल आआह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह आआआआआह्हह्हह्हह्हह्हह अहीईईईईईइस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्स आआआआऔऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊउआ इस्सस्सस्सस्सस्सस सिस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्स इस्सस्सस्सुआआआआआआआ कि वाज़ निकलने लगि।अब तौजि ने अपने दोनो हनथो मे कोमल के चुचिओ को मसलना सुरु किया।

कुछ देर के बाद जब उनका लुनद कोमल के चुद मे कुछ अनदर चला गया तो तौजि ने बोला कि अब मैं तुमहे अपनि सचि औरत बनने जा रहा हु। और जोर से एक झतका मरा। कोमल कि तो जैसे जन हि निकल गयि वो आआह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह आआआआआह्हह्हह्हह्हह्हह अहीईईईईईइस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्स आआआआऔऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊउआ इस्सस्सस्सस्सस्सस सिस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्सस्स इस्सस्सस्सुआआआआआआआ बाआआअप्पप्परीईईईआआआऊऊऊऊऊऊ माआआआआआआआआईईईईईईईईई आआआआआआआआअह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह्हह नाआआआआहीईईईईईईईईईईईईईई आआआऔऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊउ कि अवज़ के सथ चिला उथि । तौजि ने अपने होथो को उनके होथो को दबा दिया और चुसने लगे। कुछ देर के बाद कोमल सनत होने लगि तो तौजि ने उनके होतो को अज़द करते हुये बोले अब तुम मेरि पुरि तरह से औरत बन गयि हो। आज बहुत दिन के बाद कोयि जवन और कुवरि लदकि कि चुद मिलि है। वो जोर जोर के झतके मार रहे थे। कभि कभि तो कोमल अपने हनथ को अपने चुद के पास ले जने कि कोसिस करति थि लेकिन तौजि उसके हनथ को वहा से खिच लेते थे। कुछ देर के बाद तौजि का पुरा लुनद कोमल के चुद के अनदर चला गया था। अब कोमल हलकि सिसकि के साथ अपने चुदै कि मज़ा ले रहि थि। कुछ देर के बाद तौ जि ने कोमल के होथो को चुसना सुरु किया तो मैं समझ गया कि इस बार उनका सपुरम कोमल के चुद मे गिरने जा रहा था। अब कोमल भि तौजि का साथ दे रहि थि।

कुछ देर तर उहि दोनो एक दुसरे के होतो को चुसते रहे। अब तौजि सानत पद गये और कोमल के उपर धेर हो गये। कुछ देर के बाद जब तौजिने अपने लुनद को निकला तो मैने देखा कि कोमल का कोमल चुद बुरि तरह से फ़ुल गया था। उसपर बलुद और सपुरम के कुछ अनस दिखै दे रहे थे। कुछ देर के बाद कोमल उथ के तौजि के साथ बहर नलि के पास गयि और तौजि ने उसके चुद पर पनि गिरया और कोमल ने अपने चुद को धोके साफ़ किया। इसके बाद अपने कपदे को पहन के जब निचे जने लगि तो तौजि ने बोला कि ये बात किसि को बतना नहि। वो बोलि थिक है और निचे चलि गयि। तौजि अपने रूम मे जके सो गये मैं भि अपने रूम मे सो गया। सुबह मैं जब जगा तो तौजि को तैयर होते देखा।मैने जब उनसे पुछा तो वो बोले कि वो अपने गाव जा रहे है। वो अपने गव के लिये निकल गये।

Hollywood Nude Actresses
Disclaimer : www.indiansexstories.mobi is not in any way responsible for the content I post, for any questions contact me.
Find all posts by this user
Quote this message in a reply
Post Reply 


Possibly Related Threads...
Thread:AuthorReplies:Views:Last Post
  [Indian] कहानी रीडर sexguru 3 11,897 07-04-2015 09:32 PM
Last Post: sexguru
  ममता कालिया की कहानी Sex-Stories 0 10,375 04-24-2013 11:04 PM
Last Post: Sex-Stories
  सयानी बुआ और मन्नू भंडारी की कहानी Sex-Stories 3 12,395 04-24-2013 03:02 PM
Last Post: Sex-Stories
  सुहागरात की कहानी : तान्या की जुबानी Sex-Stories 4 27,788 02-22-2013 01:15 PM
Last Post: Sex-Stories
  एक मजबूर लड़की की कहानी Sex-Stories 5 57,476 06-24-2012 06:49 PM
Last Post: Sex-Stories
  हिन्दी में कामुक कहानी Sex-Stories 2 42,524 05-28-2012 08:57 AM
Last Post: Sex-Stories
  मेरी चुदाई की एक और कहानी SexStories 2 21,371 02-12-2012 06:40 AM
Last Post: SexStories
  3 दोस्तो की कहानी SexStories 8 18,642 01-11-2012 08:54 PM
Last Post: SexStories
  एक गे दोस्त की कहानी Sexy Legs 3 31,899 09-11-2011 12:28 PM
Last Post: Sexy Legs
  [Indian] मेरी कहानी avantikamehta 2 12,241 08-05-2011 07:33 PM
Last Post: Sexy Legs