अम्मी की बदमाशियां
मेरा नाम कबीर है ।
मेरी फेमिली में मेरी अम्मी और अब्बु ही है ।
जल्दी से परिचय दे देता हूँ ।
मेरी अम्मी जकिया 47 साल की है ,
लेकिन इस उम्र में भी वो बिलकुल फिट और खुबसुरत है
उनकी बॉडी करीना कपूर सी है और बूब आयशा टाकिया जेसे ..
कोई भी उनकी गांड और बोबे देखे तो देखता ही रह जाये ...
खेर ये सब बाद में,
मेरी अम्मी एक स्कूल में टीचर है ..
और करीब 80 हजार पगार है ।
मेरे अब्बु विक्टर 54 साल के है ,
वो एक दवा कम्पनी ने काम करते है और उनकी पगार 3 लाख है।
दोनों ने लव मैरिज की है ।
*
मुझे मेरे घर में कोई रोक टोक नही है ...
हमारी फेमिली मुस्लिम होते हुए भी मोर्डन ख्यालो की ही है ..
अब्बू और अम्मी शराब भी पीते है कभी कभी
में भी उनके सामने बियर पी चूका हूँ ,कई बार ...
कुल मिलाकर में एक आजाद ख्याल खानदान से हूँ ...
¥
मेरी आयु 19 साल की है ,
में बचपन से ही अपनी बॉडी को मेंटेन कर रहा हूँ ,
इस वजह से में किसी हीरो की तरह दीखता हूँ ।
मेरी लम्बाई 6 फुट है और डोले शोले भी ठीक ठाक है ।
____________
बड़े घर का होने की वजह से मेरा बचपन कॉन्वेंट में बिता था ..
जहां मैंने सेक्स का पहला एस्पिरियन्स किया था ।
वो एक गे सेक्स का पहला मोका था ..
क्योंकि xossip पर गे सेक्स की मना है .
इसलिए इतना ही बता देता हूँ की कॉन्वेंट में मैंने करीब 27-28 लड़को की गा#$ माँरी थी ,

मेरा लण्ड करीब 8 इंच का है पूरा लाल लाल सुपाड़ा है ,
और में झांटे हमेशा साफ़ रखता हूँ ।
मेरा लण्ड देख कर किसी के भी मुंह में पानी आ जाता है ।
लण्ड चुसाने में मुझे बहुत मज़ा आता है ,
कोई मेरी गांड का छेद जब जीभ से चाटता है
तो मेरा लण्ड फिर किसी हब्शी जैसा ही हो जाता है दोस्तों....
••••••••
मेरे पास 30 हजार वाला मोबाईल है
और में ने फेसबुक पर एक अकाउंट भी बना रखा है ,
जिसमे में लड़कियो और ओरतो से सेक्सी बाते करता हूँ ,
पर अभी तक किसी की चूत नही मार पाया हूँ ।
कॉन्वेंट में मुझे आये 4 साल हो गए है ।
मुझे मम्मी और पापा खूब प्यार करते है ,
पैसो की तो कमी नही है,
सो बचपन से ही में सेक्सी फ़िल्म और किताबो को पढ़ पढ़
कर मुठ मारता था ।
••••••••
मेरा कॉन्वेंट स्कुल में एक ख़ास दोस्त था ,
उसका नाम जुनेद था ,
वो भी मेरी ही तरह ही सेक्स का भूखा था ,
उसने कई रण्डीया चोद रखी थी ...
मुझे भी किसी रण्डी को चोदना ही था ,क्यूंकि में मुठ मर के और गांड मार के थक चूका था ...
••••••••
तभी एक दिन जब हॉस्टल के छत पर एक लड़के की ठोक रहा था मेरे एक टीचर ने हमको रंगे हाथो पकड़ लिया ।
वो लड़का तो भाग गया लेकिन मुझे टीचर ने पकड़ लिया ,
फिर में तो मन ही मन डरा हुआ था पर उस टीचर ने मुझे समझाया की गांड मारने से ज्यादा मजा चूत मारने में आता है ,
उसने कहा की उसके पास एक चूत का बन्दोबस्त भी है ।
उसका नाम मांगीलाल था ,
उसकी उम्र करीब 45-50 साल की है और हमको विज्ञानं पढ़ाता है ..
उसने बोला की सन्डे को वो मुझे साथ लेकर जायेगा और चूत चुदवायेगा .
मुझे पहली बार चूत मिल रही थी वो भी फ्री में ।
आज शुक्रवार हो ही चूका था दो दिन का इन्तजार और करना था ...
फिर उस दिन तो कुछ खास नही हुआ , रात में मैंने मोबाइल पे फिल्म देख कर
लंड पे जुराब लगाकर तकिये पे लंड रगड़-रगड़ कर मुठ मार के सो गया.......
हमारे कोंवेंट में दो दिन में एक बार 3 घंटे बाहर जाने की छुट थी ,
रविवार को 4 घंटे बाहर रहने की छुट थी ...
फिर शनिवार आ गया ,
आज जुनेद मिला और बोला की एक नई रांड से सेटिंग हुई है ..
जो अपने ही घर में चुद्वाती है और एक बार के सिर्फ 500 रूपये ही लेती है ..
मेरा मन तो बहुत था ..
पैसे की कोई समस्या भी नही थी पर आज बाहर जाता तो कल मुझे बाहर जाने नही दिया जाता ..!!
(कल रविवार था और मास्टर जी किसी को चुदाने वाले थे )
इसलिए मैंने जुनेद को आज के लिए मना कर दिया .
शाम को छुट्टी के वक्त वोही मास्टर मांगीलाल मिले ,
उन्होंने याद दिलाया की कल उनके साथ चलना है ..!!
मैंने उनको हां कर दी ,
रात में मैंने एक दोस्त को पकड़ा,
उसको मेरा लंड चुस्वाया और सो गया ...
क्यूंकि कल मुझे पहली बार चूत चोदने का मौका मिलने वाला था ..!!
इसी तरह रात बीत गयी और रविवार आ गया ..
मैंने स्नान किया अपनी झांटे साफ़ की और डियो लगा के रेड्डी हो गया ,
12 बजे में कोंवेंट के वार्डन के पास गया और शाम तक की छुट्टी मांगी ,
उन्होंने हां करदी और में कोंवेंट से बाहर निकला,
बाहर मांगीलाल जी अपनी कार लेकर खड़े हुए थे ..
हम दोनों उसमे बैठे और उन्होंने कार स्टार्ट कर ली और शहर की तरफ ले गये ..!!
(हमारा कोंवेंट शहर से थोडा बहार था )
शहर शुरू हो गया ,
तभी सर ने एक जगह कार रोकी और एक बोतल शराब और 2 बियर ले ली ,
थोड़ी दूर चलने के बाद एक दवा की दुकान में गये और कोई क्रीम और निरोध ले आये .!!
मेरा लंड ये देख के मचलने लगा था ...अब चूत के सपने मेरी आँखे देखने लगी थी ..
सर भी मेरी और देख मुस्करा रहे थे ,
वो बोले :- बेटे बस पांच मिनिट उसके बाद तुमको मस्त और कसी हुई चूत मिलेगी ..!!
ये कह के उन्होंने मेरा लंड पेंट के उपर से ही दबा दिया ,
इस तरह छेड़ने से मेरा लंड उछलने लगा था ,
सर भी उसको गौर से देख रहे थे ...!!
4-5 मिनिट के बाद एक नई बनी हुई सोसाइटी आ गयी ...
जिसमे कम ही घरो में लोग रह रहे थे ,
फिर एक मकान के आगे उन्होंने कार रोक दी और मुझे उतरने को कहा ,
मैंने सारा सामान उठाया और कार से उतर गया ..
उन्होंने कार साइड में लगादी और मुझे अपने साथ आने को कहा ,
हम उस घर में चले गये उन्होंने घंटी बजाई और दरवाजा खुला
वाओ क्या भरवा माल था वो ...
सब कुछ मेरी पसंद का गोल गोल मुंह ,
गोल गोल गांड ,
और गोल गोल हो बोबे क्या माल था यार ...
सबसे बड़ी उसकी सेक्सी मुस्कान ..वाह क्या मुंह था ..
उसको देख कर मेरा लंड जैसे पागल ही हो गया था,
वो पेंट में तम्बू बनाने लगा था ,
तभी उस औरत ने मुझे अंदर आने को कहा और हम दोनों उस घर में घुस गये ...!!
घर व्यवस्थित था और उस औरत के अलावा कोई और नही था ,
तभी उस औरत ने मुझे सब सामान देने को कहा मैंने बेग उसको दे दिए ,
तभी याद आया की निरोध का पेकेट भी उसी के अंदर ही था ..
उसके अंदर जाने के बाद ये बात मैंने सर को बताई तो..
वो बोले :- क्या हुआ उसी के काम तो आने है सब ,
तुम डरो मत..कबीर बेटा ..!!
वो औरत सब सामान अंदर रख कर आगयी और मेरे से सट के बैठ गयी ..
सर :- विमला नजमा को छुट्टी दे दी है ना ..!
वो :- हाँ अब वो कल सुबह ही आएगी ..क्या नाम है इसका ..(मेरी तरफ देख कर )
सर :- कबीर है इसका नाम विमला ..!!
वो :- मुझे ये बहुत छोटा लग रहा है ..?
सर :- विमला इसके चहरे पे मत जाओ ये कितना हरामी और बड़े लंड वाला है ,
जब तुम लोगी तो पता चलेगा पता नही किस किस की गांड में लंड दे चूका है ये ..
ये सुन के विमला ने अपना एक हाथ मेरे लंड पे रख दिया (पेंट के उपर )
आज पहली बार किसी औरत का हाथ मेरे लंड पे लगा था ,
में सनसना सा गया उस वक्त तो ..........
तभी विमला ने मेरे गालो पे अपने हाथ रख दिए और मेरी आँखों में आँखे डाल के मुझे देखने लगी ,
फिर विमला ने मुझे मेरे होंठो पे किस कर लिया और मेरे गालो पे हल्के से कट भी लिया अपने दांतों से ,
सर हम दोनों को ये सब करते हुए देख रहे थे ,
मेरा लंड कैद में कसमसा रहा था ..तभी विमला ने मेरा हाथ पकड़ा और अपने बड़े बड़े बोबो पे रख दिया ..
वो बोली :- देख क्या रहा है कबीर आ लुट ले इस जवानी का मजा ,
दिखा दे अपनी मर्दानगी और मिटा ले हवस की भूख आजा देर ना कर ...!!
लेकिन सर के सामने मेरी हिम्मत नही हो रही थी ,
शायद ये बात विमला ने भांप ली थी ,
उसने सर को अंदर जाकर शराब के पेग बनाने को कहा ,
सर जल्द से अंदर चले गये ..
उनके अंदर जाते ही विमला मुझ पे टूट पड़ी और मेरी शर्ट उतार दी और मुझको पेंट उतरने को कहा ,
मैंने जल्दी से पेंट उतार दी ,विमला ने मेरे अंडरवियर को निचे किया और मेरे लंड को मुंह में भर लिया ,
वो किसी लोलीपोप की तरह मेरे लंड को चूसने लगी ,
मैंने लंड तो बहुत बार चुसवाया था पर आज विमला अलग ही मजा दे रही थी ...
मेरे बदन में अजीब सी सरसराहट हो रही थी ..सब कुछ नया और मजेदार लग रहा था ..
तभी सर अंदर आ गये में हड़बड़ा गया और जल्द से अंडरवियर उपर खेंच लिया ,
सर शराब का पेग लाये थे विमला के लिए और मेरे लिए बियर लाये थे ,
विमला थोड़ी नाराज हो गयी थी सर के इस तरह आने से ..
उसने सर के हाथ से पेग लिया और बोली :- आप एक काम करो ना ,
बाज़ार जाकर घर का सामान ले आओ न मैंने लिस्ट बना रखी है ,
दो पेग ले लो और चले जाओ...
सर कुछ नही बोले और हामी भर के बहार निकल गये...!!
अब विमला ने मुझे अपने से लिपटा लिया उसके बड़े बड़े बोबे मेरी छाती में गड रहे थे ,
बिलकुल कसे हुए बोबे थे उसके और बड़े भी ..
वो मुझको चूम रही थी और चाट रही थी ,
मेरा लंड तो जैसे बिजली का खम्बा हो गया था ,
पूरा 90 डिग्री पे खड़ा था वो और किसी सांप की तरह फनफना भी रहा था ..!!
मैंने विमला का गाउन उतर दिया निचे वो ब्लाउज और पेटीकोट पहने हुए थी ,
ब्लाउज में उसकी दूध की टंकिया बहुत ही मस्त लग रही थी ,
उसने भी मुझको अपने उपर आने को कहा ..
तभी बहार से सर की आवाज आई:- विमला में बाजार जा रहा हूँ करीब एक घंटे में लौटूंगा..!!
विमला ने कहा :- बाहर से ताला मार के निकल जाओ और आराम से आना तुम ...!!
फिर विमला मुझको अपने रूम में ले गयी और हम दोनों बिस्तर पे बैठ गये ,
वो लेट गयी और में उसका पेट नाभि चूमने लगा ..
वो भी अब गर्म होने लगी थी ...
इस तरह में उसको चूम रहा था :::
वो मुझे किसी बच्चे की तरह चूम रही थी ,
मेरे हाथ उसकी गोलाईया टटोल रहे थे ..
उसका हाथ मेरी पीठ पे था और फिर उसने मुझको लिपकिस करना शुरू किया ,
ओह मजा आ गया आज तो क्या स्वाद था उसके होंठो का ,
अब हम दोनों पर सेक्स चढ़ रहा था ...
तभी वो उठी और अपने लिए पेग बना लाइ और मुझे बियर ला दी ,
सेक्स के साथ शराब का नशा ...
क्या हालत थी मेरी पूछिये मत दोस्तों ..
विमला ने एक ही साँस में वो पेग गटक लिया,
फिर उस ने अपना पेटीकोट और ब्लाउज उतार फेंका ,
उफ्फ्फ क्या लग रही थी वो निचे सिर्फ पेंटी ही पहन रखी थी उसने ..
कयामत लग रही थी वो एकदम ,
उसके कयामत ढाते बोबे थरथरा रहे थे .....
मुझे बुला रहे थे , तभी विमला ने मेरा मुंह पकड़ के अपनी छातियो पे रख दिया ,
जैसे उसने मेरे और अपने बोबो के मन की आवाज सुन ली हो ..
में किसी बच्चे की तरह ही उसके बोबे चूसने लगा ,
एक मेरे मुंह में था और एक को अपने हाथ से दबा रहा था ,
विमला ने मेरा अंडरवियर भी उतार दिया और मेरा लंड अपने हाथ में लेकर सहलाने लगी ,
कुछ देर हम दोनों ऐसे ही करते रहे फिर विमला मुझको बिस्तर पे ले आई ..
वो सीधी लेट गयी और मुझे अपने उपर आने को कहा ...!!
फिर में विमला के बोबो को दबाने लगा वो भी मेरा साथ दे रही थी,
उसके बोबे मस्त थे ,मुझे उनको दबाने में बहुत ही मजा आ रहा था ..
इस तरह से में उसके बोबे दबा रहा था ...




फिर मैंने उसके बोबे की निप्पल को मुंह में ले लिया और चूसने लगा ,
बिलकुल किसी बच्चे की तरह में उसके निप्पल को चूस रहा था ....
वो गर्म हो के सिसियाने लगी थी ,
फिर उसने मेरा सर पकड़ कर अपनी टांगो के बीच में अपनी चूत पे ले गयी ,
उसके हल्की हल्की झांटे थी ,
जिनमे से उसकी चूत का गुलाबी छेद दिख रहा था ...
मेरा मुंह उसके एकदम उपर ही था ,
तभी विमला बोली :- चाट ले इसको अपनी जीभ से मेरे मुन्ने
इसका स्वाद तुमको नई दुनिया दिखा देगा ....
चल चाट ले जल्दी कर ना ....!!
मैंने भी अपनी जीभ उनकी चूत में डाल दी और अपनी जीभ को उसके अंदर बाहर करने लगा ,
उसकी चूत का नमकीन स्वाद मुझे बड़ा ही अच्छा लग रहा था ,
उसकी हल्की हल्की झांटे मुझे और भी भड़का रही थी ,
विमला :- चाट कबीर ...आहा आहा ऐसे ही चाट मेरे बेटे ..सी सीस s s ओह मा ओह चाट ना ...
वाह बीटा तेरी जीभ कमाल की है.... ओह...सी सी ... अहा .. अहा.. तेरे सर से कुछ नही होता है ,
शादी को 7 साल हो गये अभी तक मेरी चूत भी सही तरीके से नही मार पाए है वो तो ...
(में हैरान था की विमला सर की बीबी है और सर मुझसे अपनी ही बीबी चुदवा रहे है )
लेकिन में कुछ नही बोला और उसकी चूत चाटता रहा ..
फिर वो 69 की पोजीशन में आ गयी और उसने मेरा लंड अपने मुंह में ले लिया ...
वो बहुत ही मस्त तरीके से मेरा लंड चूस रही थी ..
मैंने बहुत बार लंड चुसवाया हुआ था ,
लेकिन विमला के मुंह की मस्ती अलग ही थी ....
करीब 15-20 मिनिट हम यूँही एक दूजे की मुंह से चुदाई करते रहे ...
फिर वो उठी और मुतने को गयी मेरा भी पेशाब का मुड बन गया ,
हम दोनों साथ में ही बाथरूम में पेशाब करने लगे ...
पेशाब करके उसने मेरा लंड अच्छे से साफ किया और साबुन से धोया ,
अपनी चूत भी साबुन से साफ की..
फिर हम दोनों बेड पे आ गये...
मेरा लंड मुतने के बाद थोडा ढीला हो गया था ..
विमला ने एक पेग बनाया और उसमे से चुस्की लेकर मेरी तरफ बढ़ाया ..
मैंने भी उसमे से शिप की....
फिर विमला ने उस गिलास में मेरा लंड डाल दिया और मेरा लंड चूसने लगी ...
मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा ...
मुस्लिम होने के कारण मेरे लंड का सुपाड़ा निकला हुआ था ,
वो बहुत ही मस्त लग रहा था विमला को ,
विमला बड़े ही प्यार से मेरा लंड दुबारा से चूसने लगी थी ,
लंड के साथ साथ वो मेरे अंडकोष भी अपने मुंह में ले-ले कर चूस रही थी ..
सच में बड़ा ही मजा आरहा था मुझको इस चुसवाई से ...
कुछ ही देर में मेरा लंड फिर से खड़ा होकर तन गया ...
अब मैंने उसको पीछे से पकड़ के जोर जोर उसके बोबे जोर जोर से दबाने लगा ,
बहुत ही बुरी तरह से में उसके बोबे दबा रहा था ,
वो करा रही थी पर मुझे कुछ नही कह रही थी ....
लगता था की उसको मजा आ रहा था ..!!
उसी वक्त मैंने अपना लंड उसकी गांड से सटा दिया,
उसकी गांड के छेद से अपना लंड रगड़ने लगा ,
मेरा लंड बुरी तरह से गर्म था ...
अब विमला से रहा नही गया और उसने मुझको अपने उपर आने को कहा ,
मेरे उपर जाते ही उसने मेरा लंड अपनी चूत के छेद पर सेट किया ....
फिर विमला ने मुझे धीरे धीरे धक्के मारने को कहा,
जैसे ही मेरा लंड उसकी चूत में गया मुझको उसकी चूत बहुत ही गर्म महसूस हुई ,
मुझे लगा जेसे वो तप रही हो ,
लेकिन मेरे लंड को नया अहसास भी हुआ ,
की किसी के गांड से ज्यादा मजा चूत मारने में ही आता है ...
खैर फिर मैंने लंड उसकी चूत में उतार दिया और चोदने लगा ,




मेरा लंड उसकी चूत के अंदर- बाहर हो रहा था ,
में उसके बोबे चूस रहा था दबा रहा था किसी भूखे की तरह से ..
फिर उसने मुझे किस करना शुरू कर दिया ..
लिप-किस वो सिसिया रही थी ,
जोर जोर से चिल्ला रही थी ,
' हाँ इसी तरह चोदो मुझे मेरे बेटे '
अहा सी सी सी सी सीसी उह आहा उह
उह मा ओह चोदो फाड़ दो मेरी चूत...
वो पता नही क्या क्या अनाप शनाब बक रही थी पर मैंने चोदना जारी रखा ,
लगभग 20 मिनिट ताड़बतोड़ चुदाई चली ,
फिर मेरे लंड ने अपना पानी उगल दिया ..
जिसको विमला ने अपनी चूत में भर लिया ,
फिर में उसके सिने से लग के उसी के उपर ही सुस्ताने लगा .....


Read More Related Stories
Thread:Views:
  अम्मी की करतुते 25,077
  अम्मी और खाला को कुत्तों की तरह चोदा 148,649
  अम्मी ने गांड मरवा दी मेरी 63,160
  अपनी अम्मी को जरूर चोदना 15,631
 
Return to Top indiansexstories