अम्मी की करतुते
दोस्तों मेरा नाम राहुल है,में दिल्ली से हूँ.
और एक मोर्डेन परिवार से हूँ ।
में दिल्ली में अपनी मम्मी के साथ रहता हूँ .
मेरी उम्र 19 साल है और मैंने अभी तक सेक्स के बारे में सिर्फ सुना ही है ...
असलियत में किया कभी ही नही है ।
मेरे साथ मेरी मम्मी सोनिया रहती है ,
मम्मी तलाकशुदा है ..और उनकी आयु 46 साल है
वो एक टीवी चैनल में काम करती है ।
मेंरी मम्मी का काम चूँकि टीवी चेनल में था
तो वो खूबसूरत तो होनी ही है ,
वो दिखने में बिलकुल माधुरी जेसी लगती है ।
फिगर बूब 36 के होंगे और कमर 30 की.. ओह... और कमर के निचे उनकी गांड लगभग 38 की है।
मम्मी रोज 2 घण्टे कसरत करती है , हमारे घर में ही एक छोटे सा जिम भी है ..
इसलिए वो फिट भी बहुत है ।
खेर वो देखने में मुश्किल से ही लगभग 30 या 32 साल की लगती है ,
हम जब भी साथ में कहीं बाहर जाते है
तो लोग मुझे उनका भईया या देवर समझते है न की मा-बेटा.
मॉम को अच्छी पगार मिलती है इसलिए मेरे घर में कोई कमी नहीं है ,
सब सुख सुविधा है।
हमारे घर में एक छोटा सा बार भी है और मेरी मम्मी लगभग रोजाना ड्रिंक करती है ,
में भी कभी कभी बियर पी लेता हूँ ,
मम्मी ज्यादा रोक टॉक भी नहीं करती है ।
मुझे जेब खर्च भी बढ़िया मिलता है ।
~~~|

हां दोस्तों मेरे घर में एक नोकरानी है,
जैनी नाम है उसका ,
उम्र करीब 24 साल है,और शक्ल ठीक ठाक ही है।
वो सुबह शाम आती है,
साफ़ सफाई बर्तन कपड़े वगेरह का काम कर देती है।
हमारे घर की एक चाबी मम्मी के पास और एक मेरे पास और एक चाबी जैनी के पास रहती है ,
ताकि कोई हो न हो किसी को
कोई प्रॉब्लम नही हो ।
हां अब कहानी शुरू करते है और अब बात सेक्स की करते है ,
मेरा एक दोस्त है...
उसका नाम राजू है और वो मुस्लिम है और मेरे साथ ही पढ़ता है ,
उसी से मुझे पहला सेक्सज्ञान मिला था ।
एक बार उसने अपने फोन पर मुझे फोन पर एक सेक्सी फ़िल्म दिखाई और सेक्स के बारे में बताया था ,
ये बात 2 साल पुरानी है ।
उस दिन मैंने राजू से मुठ मारना भी सीखा .
मैंने और राजू नें मोबाइल पर फिल्म देखते हुए एक दुसरे की मुठ मारी ..
वो मेरा सेक्स का पहला सबक था .
फिर मेरे कहने पर राजू ने मुझे 4-5 फिल्म मेरे फोन में डाल दी ।
मेरे घर पर नेट चलता ही था..अब में नेट पर में रात में खूब सेक्सी फिल्म
देखता और अपने ही हाथ से अपने लण्ड की गर्मी को शांत करता था
मेरे मन में हर वक्त बस चुदाई ही चुदाई रहती थी .
पर सच्च में चूत चोदने का मौका अभी नहीं मिला था ..
मुझको हर समय चूत ही चूत दिखती रहती थी ...
एक बार नेट पर मैंने एक फिल्म देखि
जिसमे सगे माँ बेटे सेक्स करते है ...
में देखता ही रह गया ,
सगी माँ और बेटा भी सेक्स एक दूजे से सेक्स कर सकते है मुझे यकीन ही नही हुआ था ...
अब में नेट पर माँ- बेटे के सेक्स की फिल्मे ही देखता रहता था ,
उस दिन के बाद मुझे मेरी सगी मॉम भी मुझको चोदने की वस्तु ही दिखती थी ..
मेरी मॉम इतनी सेक्सी लगती थी मुझको क्या बताऊ पर उनसे कुछ करने की हिम्मत नही हो रही थी ,
(2)
~~~ खेर ये सब आगे ~~~
_________________________

इसी तरह मेने सेक्स की शुरुआत करी थी,
रात-रात भर सेक्सी फिल्म देखना और मुठ मारना ।
इसी तरह समय कट रहा था की तभी एक दिन दोपहर को राजू का फोन आया ,
उसने पूछा की राहुल क्या तुम सचमुच चूत चोदना चाहोगे क्या ...?
मेरा तो बुरा हाल हो गया आज तक तो फोन पर ही सेक्सी फ़िल्म देखि थी ।
अब असली चूत को देखने और चोदने का मौका मिल रहा था,
भला में मना कैसे करता मेने तुरंत ही हामी भर दी ।
राजू ने कहा की लेकिन 1000 रुपये लगेंगे ,
पैसे मेरे लिए कोई बड़ी बात तो थी ही नही इसलिए मेने हाँ भर ली .
फिर में राजू के घर की और निकल गया .
अब आपको में मेरे लण्ड के बारें में बतादु।
मेरा लण्ड करीब 7.5" का ह और 2 इंच मोटा है
और लगभग गोरे रंग का है ।
किसी की भी अम्मी या बहिन मेरा लण्ड देखले तो चूसने को राजी हो जाये ,
लेकिन अभी तक मैंने झांटे नही काटी थी ,
लण्ड के चारो और झान्टो का बगीचा था ।
मैंने शेविंग भी नही शुरू की थी बस ट्रिम करता था
में देखने में चिकना लौंडा ही लगता था ,

तो आज में अपनी पहली-पहली चुदाई के लिए घर से निकल पड़ा .
रास्ते में राजू का फोन आया की 3 बियर और एक कंडोम का पैकेट भी ले लेना ,
फिर में जल्द से एक मेडिकल स्टोर पर गया मैंने कंडोम माँगा तो दूकानदार
बोला कोनसा लोगे डॉटेड या सेंटेड या सादा तो में ,
सकपका गया की कोन सा लूँ तभी याद आया की टीवी पर ,
सन्नी लियोनी का ऐड आता है,
तो मैंने चॉकलेट फ्लेवर का एक पैकेट ले लिया
फिर शराब की दूकान 3 बियर भी लेली ।
मेरा लण्ड आज बहुत खड़ा हो रहा था ,
चूत का सोच सोच कर ।
रस्ते में 2 -3 लडकिया दिखी तो मेरा लण्ड थोडा गिला सा हो गया ।
दोस्तों पहली चुदाई के बारे में सोच सोच कर मेरा प्रीकम निकल गया था ।
=
(3)
=
फिर में जल्दी से राजू के घर पहुंचा राजू ने गेट खोला ।
हम दोनों राजू के रूम में गए ,
वहां कोई नही थी मैंने राजू से पूछा क्या हुआ राजू वो चूत कहाँ है,
तो वो हंस कर बोला इतने बेकरार मत हो थोड़ी देर में ही वो आ रही है ।
हम ने बियर खोल ली और पिने लगे क्योंकि हमारे घर में बियर
आदि पर रोक टॉक नहीं है ।
राजू की अम्मी और अब्बु 4 दिन के लिए बाहर गए थे .
मतलब कोई दिक्कत नही थी ,
थोड़ी देर में बेल बजी मेरा लण्ड खड़ा हो गया .
राजू बोला तुम बियर पियो में देखता हूँ कौन है.
फिर राजू अंदर आया साथ में एक 35-40 साल की औरत थी।
शक्ल ठीक ठाक ही थी ।
थोड़ी सी मोटी थी पर बुरी नही लग रही थी।
बूब भी जोरदार थे उसने सलवार सूट पहन रखा था,
राजू ने उसे मेरे पास बैठने को कहा वो मेरे से सट कर बेठ गई,
फिर राजू ने हमारा परिचय करवाया उसका नाम गोरी था,
उसके पती कंही बहार काम से गए थे और वो पार्ट टाइम वाली रांड थी ।
खेर राजू ने उससे बियर का पूछा तो उसने हामी भर ली ,
हम तीनो साथ में बियर पिने लगे .
तभी राजू बोला :- क्यों राहुल ये कैसी लगी है तुम्हें गौरी ...
साथ में ही गौरी बोल पड़ी :- हां बोलो राहुल कैसी लगती हो मैं तुम्हें बोलो।

(इतना कहने के साथ ही उसने अपने हाथ को मेरी जाँघ पर रख दी)
मेरी हालत खराब होने लगी थी ...
फिर गौरी और राजू खिलखिला पड़े ...
तभी गौरी ने मेरा एक हाथ पकड कर अपने बड़े बड़े बूब पर रख दिया ..
में उसके बूब को महसूस कर ही रहा था की मेरे लण्ड पर गोरी ने हाथ रख दिया वो खड़ा तो था,
ही पर आज किसी औरत ने पहली बार छुआ था सो वो अपने पुरे जलाल में आ गया था।
पेंट के अंदर लण्ड किसी सांप फनफना रहा था .
तभी राजू ने उसके बूब दबा दिए,और राजू ने उसको लिपकिस किया ।
गोरी बोली => मेरे राजा इतनी क्या जल्दी है... पुरे 4 घण्टे यंही हूँ ।
सबको पूरा मज़ा दूंगी इतना मजा आएगा तुम दोनों को की मुझे याद करोगे,
फिर गोरी के बूब जोर से दबा दिए,
वो बोली दोनों रुक जाओ मेरे कपड़े खराब हो जायेंगे,
मुझे इनको उतार देने दो न पहले.
(4)
~~~~गौरी की चुदाई~~~~
=
राजू ने अपनी पेंट और टी उतार दी,उसका मुसलमानी लण्ड भी एकदम रॉड की तरह खड़ा था ,
राजू ने अपना लण्ड गौरी के सामने किया वो सोफे पर बेठी थी जबकि राजू उसके सामने खड़ा था ,
गौरी ने उसका लण्ड अपने मुंह में ले लिया और उसका सुपाड़ा चूसने लगी।
मेरे भी लण्ड में ये देख कर आग लग गई .
मैंने भी अपनी पेंट शर्ट उतार दिए और नंगा हो गया ..मेरे लण्ड का टोपा गिला हो रखा था ,
गौरी के एक हाथ में बियर थी दूसरे हाथ में राजू का लण्ड ,
मेने भी लण्ड को उसके गालो पर रगड़ा बड़ा मज़ा आ रहा था ,
मुझे आज से पहले ऐसा मज़ा कभी नही आया था .
गौरी ने राजू का लण्ड छोड़ा और मेरा लण्ड पकड़ लिया,
फिर मेरे लण्ड की चमड़ी को पीछे धकेला और मेरे टोपे को
अपने मुंह में ले लिया और अपनी जीभ को उस पर फिराने लगी
ऊह आह्ह्ह्ह्ह उई क्या मज़ा आ रहा था.....आहा अहा ऊ हुहुहुहू ...वाह
मुझे ये सब करवाकर
में बयान नही कर सकता हूँ ,
क्या मस्ती महसूस हो रही थी...
फिर मेरा पूरा लण्ड गौरी ने अपने मुंह
में ले लिया और चूसने लगी और अपने हाथ को मेरी गोटियों
और गांड की दरार में फिराने लगी .
मेरे होश-हवास ही उड़ गए थे... मुझे पता नही क्या हुआ ,
में हवा में सा उड़ने लगा था ..
अब मैंने गौरी का मुंह ही चोदना चालू कर दिया
वो भी अपना मुंह बड़े ही प्यार से
चुदवा रही थी ,
क्या मजा आया उस वक्त जब पहली बार मेरा लंड किसी ओरत ने अपने मुंह में लिया ,
क्या बताऊ दोस्तों उसका मुंह जसे जन्नत ही लग रहा था उस वक्त मुझको तो ..
क्योंकि में आज सुबह से ही गर्म हो रखा था ...सो करीब 10 मिनिट में ही
मेरा लण्ड अपना पानी छोड़ बैठा ,
लंड से खूब सारा वीर्य निकला जिसको करीब आधा तो गौरी
ने निगल लिया और कुछ पानी उसके मुंह और बूब पर गिर गया ।
मैंने गौरी से सॉरी कहा तो वो बोली कोई नही तेरा पानी बहुत टेस्टी है ,
मेरे राजा तेरे लंड का जवाब नही है ..
अब पानी निकलने से में थोडा थक सा गया तो सामने सोफे पर बेठ गया ,
अब राजू की बारी थी ।
ब्रा पेंटी में गौरी सोफे पर बैठी हुई थी ।
आज पहली बार किसी औरत नें चुस कर मुझको झाड़ दिया था ...
राजू ने फिर गौरी को नंगा कर दिया ,में ठीक उनके सामने बेठा था ,
*-*




*-*
ओह क्या नजारा था ..
उसकी झांटो से ढकी चूत देख कर मेरा ढीला लंड फिर से मचलने लगा
क्यूंकि मुझको आज पहली बार असली चूत के दीदार जो हुए थे ..
लेकिन अब बारी राजू की थी ..
(*)
(÷)
(=)
अब आगे पढिये की राजू कैसे चोदता है गौरी को और
मेरा लण्ड क्या फिर खड़ा होगा ।
÷=×=÷×=÷×÷
(5)
=÷=÷=÷=÷=
राजू और गौरी
÷=÷=÷=÷=÷=
=
=
अब राजू का लण्ड भी फनफना रहा था ।
जबकि मेरा लण्ड ढीला पड़ गया था ,
गौरी और राजू एक दूजे को चूम रहे थे,
-
तभी राजू बोला => गौरी एक काम करो न तुम मेरी अम्मी की मेक्सी पहनो न फिर मुझे मज़ा आएगा प्लीज़ .
-
गौरी => तेरी अम्मी की मेक्सी पहन कर क्या करना है ,
पागल हो गये हो क्या... तुमको मुझे चोदना नहीं है ,
जो मुझे नंगा करने की जगह कपड़े पहना रहा है ।
-
राजू => गौरी मेरी एक तम्मना है.. की में अपनी अम्मी को चोदु पर असली में नही कर सकता ,
इसलिए तुम झुठमुट में मेरी अम्मी बन जाओ थोड़ी देर के लिए प्लीज़ ।
मुझको थोडा अलग मजा मिल जायेगा प्लीज़ गौरी
-
ये सुनकर में अवाक था की राजू ये सब क्या कह रहा है ,
राजू अपनी ही सगी अम्मी को चोदने की इंछा रखता है ये भी क्या मेरे ही जैसा कमीना है ।
=
ये सुनकर गौरी मुस्करा गई और बोली => राजू कोई बात नही है ,
हर इंसान की चुदाई के वक्त अलग अलग तमन्ना होती है ।
में तुम्हारी अम्मी बन कर ही चुदाऊंगी और मुझे भी ये सब मज़ा देता है की कोई भी किसी से चुदवा ले और ..
रियल में मैं तो अपने सगे छोटे भाई से चुदवा चुकी हूँ .
=
ओह ये क्या सुन रहा हूँ में अपने ही सगे भाई से ओह ..
क्या कोई अपनी सगी मॉम को भी चोद सकता है क्या फिर तो ...?
=
तभी राजू उठा और अपनी अम्मी की मेक्सी लाया
वो काले रंग की थ्री पीस वाली एक बहुत ही सेक्सी मेक्सी थी ।
उसमे उपर गाउन था ,फिर सेक्सी टॉप स्कर्ट और फिर ब्रा पेंटी ,
लेकिन वो ब्रा गौरी को आ ही नही रही थी ....
गौरी ने मेक्सी पहन ली और अपनी सेक्सी अदाये दिखाने लगी ..
राजू अम्मी अम्मी बोल कर गौरी से लिपट गया ।
गौरी ने राजू को अपने गोद में बेठा लिया ,
दोनों आमने सामने थे।
राजू के दोनों पैर उसकी कमर से लिपटे थे और राजू उसको चूम रहा था ,
उधर गौरी भी उसका पूरा सहयोग कर रही थी ,
फिर राजू अपने दोनों हाथो से उसके बूब पकड़ कर दबाने लगा।
-
गोरी => अहह आह्ह बेटा धीरे करो न दर्द होता है ,
आपकी अम्मी को आज तो प्यार से करो ना ...
-
राजू=> मेरी प्यारी अम्मी ..डरो मत दर्द के बाद ही मज़ा आएगा आपको अपने बेटे से ।

ये सब देखने में बहुत ही अजीब था पर मेरा लण्ड अब फिर से खड़ा होने लगा था ,
और में भी अपनी मम्मी के बारे में सोचने लगा जो इस रण्डी गौरी से कहीं ज्यादा हसीन और स्मार्ट थी ।
तभी राजू उठा और गौरी की दोनों टांगे पकड़ कर अपना मुंह स्कर्ट के ऊपर से ही गौरी की चूत पर लगा दिया ।
फिर किसी कुते की तरह वो उसकी चूत को कपड़ो के ऊपरसे ही चाट रहा था और गौरी सिसियाने लगी ।
-
गौरी :- उह्ह्ह्ह सी सी सी उहा उम्म्म आहा बेटे आहा मज़ा आ गया,
राजू चाट अपनी अम्मी की चूऊऊत आहा आह्ह्ह्ह्ह...
मेरे राजू बेटा आ मेरे मादरचोद बेटे चोद ले अपनी अम्मी को आजा ,
मेरा राजा बेटा आजा चोद अपनी अम्मी को इसी चुत से निकल है तू मेरे बेटे ,
चाट चाट कर चोद ले अपनी अम्मी की बुर को ..
फिर राजू भी अपने पुरे जोश में आ गया और गौरी की स्कर्ट भी उतार फेंकी ,
गौरी ने भी जल्दी से ब्रा-पेंटी उतर दी ..!!
अब गौरी पूरी नंगी थी ।
=-=-=-=-=
(6)
~~~~~~~~~~~~~~
गोरी को दोनों साइड से चोदा
~~~~~~~~~~~~~~
=
=
=
राजू किसी कुते की तरह गौरी की चुत चाट रहा था ।
अब आगे ....
)*(
=
=
गौरी सिसियाने लगी थी और राजू को उकसाने लगी ,
में सोफे पर बेठा ये सब देख रहा था और बियर के घूंट मार रहा था,
साथ में अपने ही अपने लण्ड को सहला रहा था,
तभी राजू को गौरी ने धकेला और खड़ी होकर अपने कपड़े उतार फेंके ,
वो एकदम मादरज़ात नंगी हो गई ,
उसके बड़े बड़े बूब हवा में झूल रहे थे ,
हल्की सांवली सी चूत के अंदर गुलाबी रंग दिख रहा था और हल्की हल्की झांटे थी ।
क्या मस्त नज़ारा था ।
पहली बार किसी की असली चूत देख रहा था ,
उसका क्लिट भी लटका हुआ था ,
राजू बोला :- अम्मी मेरी प्यारी अम्मी में आपको चोदना चाहता हूँ ,
आपकी चूत में मेरा लंड डालना चाहता हूँ .....?
गौरी :- तो अब इन्तजार कैसा मेरे बच्चे आओ चोद लो अपनी अम्मी को ...आओ बेटे ..आजाओ ..!!
अब राजू उसके सामने जाकर बैठ गया और उसकी चूत से अपना मुंह सटा कर चूत चाटने लगा ,
वो लपर लपर कर चूत चाट रहा था ,
अब गौरी का चेहरा हवस से लाल हो गया था ,
उसकी सांसे भरी हो गई थी और उसकी छातिया ऊपर निचे होने लगी थी .
फिर राजू उसके बड़े बड़े बोबो को दबाने लगा था राजू बड़ी ही बेरहमी से उसके बोबे दबा रहा था ,
फिर राजू किसी बच्चे की तरह से गौरी के बोबे चूसने लगा था ...
गौरी बोली :- मेरे बेटे ओह धीरे बच्चे आराम से चुसो ना में कंही भाग तो नही रही हूँ ,,
फिर राजू ने चूसने की स्पीड कम करदी ...!!
अब राजू का लण्ड भी तम्बू सा तन चूका था ।
दोनों मादरजात नंगे थे ,गौरी के निप्पल टाईट हो चुके थे ..
फिर राजू ने गौरी को अपनी बाँहो मे उठाया और बेड की और ले गया ।
बेड पर ले जाकर राजू ने अपने लण्ड को गौरी के मुंह में दिया ,
गौरी उसका लंड चूसने लगी ...
राजू :- अम्मी आप तो बहुत ही अच्छे से लंड चूसती हो ...वाह अम्मी ...!!
गौरी ने उसके लंड को थोडी देर चूसा और राजू ने जल्दी से वही लण्ड उसी की चूत में डाल दिया,
राजू लंड जैसे ही अंदर गया गौरी ने सिसकी सी भरी और राजू ने थूक से सना हुआ लण्ड उसकी चूत में पुरे का पूरा उतार दिया ,
गौरी ने अपनी बाँहो से राजू के गर्दन के चारो तरफ फंदा बना डाला,
जिसकी वजह से उसके बूब राजू के चेहरे पर रगड़ खा रहे थे,
राजू ने अपने हाथ उसकी चोडी गांड पर रखे और उन्हें दबाते हुए नीचे की तरफ धक्के मारने लगा,
उसके होंठ गौरी के कानो के बिलकुल पास थे,
और वो मीठे दर्द से हलके हलके चिल्लारही थी..आआआआआआआआअह ..
राजू मेरे बेटे .....
तुम्हारा मोटालंड.....
आआआआआ...
मेरी चूत में अन्दर तक डालो .................
और जोर से.....और जोर से.....
आआआआअह्ह्हमेरी चूत तुम्हारी है.......
मारो मेरी चूत.....चोदो मुझे......
वो अब गन्दी गन्दी गालियाँ भी देने लगी थी..
अम्मी चोद....चोद न......
आआआआआआआअह...चोद अपनी अम्मी को.......
अपने लम्बे लंड से.........
पूरा ले लुंगी आज में अपने सगे बेटे का लंड ...............
आआआआआआअयीईईईइ हरामखोर........
चोद मुझे.....फाड़ दे अपनी अम्मी की चूत ....आआआआह.....अम्मी के लोडे......
माआआआआआआऐन तो गयीईईईईईईईईईई ......आआआआआअह....
राजू भी पुरे जोश से गौरी को चोद रहा था ...
साथ में उसके बूब भी दबा रहा था व् उसके गाल भी चूम रहा था
करीब 15 या 20 मिनिट बाद गौरी ने एक झटका सा खाया ,
और वो झड़ने लगी थी ...
वो गहरी -२ साँसे लेकर ढीली पड़ गयी...
अब राजू ने अपनी रफ़्तार बढ़ा दी गौरी की कमर पकड़ कर जोर जोर से चूत के अंदर अपना मुसलमानी लण्ड डालने लगा ।
कुछ ही देर में राजू का भी पानी निकल गया ,
राजू ने जल्दी से अपना लण्ड गौरी के मुंह में डाला,
जिसको गौरी ने मज़े से ले लिया ,
फिर गौरी ने लण्ड बाहर निकाला तो
थोडा पानी चूत में था थोडा मुंह में और
कुछ गौरी की छाती पर गिर गया था ।
(7) _____________
कहानी चालू है ।
_____________
हम तीनो ही थक चुके थे,
बियर खत्म हो चुकी थी और नशा भी।
राजू हांफ रहा था और उसका लण्ड सिकुड़ गया था,
गौरी की हालत अजीब थी,उसकी चूत से पानी रिस रहा था,
मुंह पर भी राजू का वीर्य लगा हुआ था,और छातियो पर भी।
मैंने राजू को बोला :- यार दूकान और बियर ले आओ न ,
राजू बोला हाँ राहुल लाता हूँ थोडा सा रुको सुस्ता लूँ ,
फिर जाता हूँ, मैंने कहा ठीक है भाई ।
थोड़ी देर सुस्ता कर राजू बाथरूम गया,
जहां वो लण्ड और मुंह धोकर आया,
मैंने उसको 700/-रूपये दिए तो वो बियर लेने चला गया ।
अब में और गौरी अकेले थे और दोनों एकदम नंगे थे ,
फ्लेट की चाबी राजू लेकर गया था ।
गौरी बाथरूम की तरफ गई और अपना शरीर साफ करके आई और तोलिये से खुद को पौंछ कर मेरे पास ही बेठ गई।
गौरी मेरी और देख रही थी और हल्के हल्के मुस्कुरा रही थी ।
मैंने भी उसकी तरफ स्माइल दी ...
और बोला :- केसा लगा आपको अपने बेटे से चुदवा कर आपको ..?
=
गौरी हंस पड़ी => देखो राहुल तुम अभी नए हो,जब हवस सर पर हावी हो जाती है,
तो ये रिश्ते नाते नही देखती है,फिर लण्ड को चूत चाहिए और चूत को लण्ड ,
मेरा खुद का देखा हुआ है की एक 50 साल का बाप
अपनी ही सगी 18 साल की बेटी को चोदता है और एक 50 साल की माँ अपने ही बेटे से अपनी बहु के सामने ही चुदती है ..
दुनिया में राहुल यही सच है।
फिर गौरी भी राजू का वीर्य अपने शरीर से धोकर मेरे बाजु में आ गयी उसके हाथ में लंड से खेलने लगे थे ,
मेरा लंड अब खड़ा हो चूका था ...
गौरी :- आपका लंड बहुत ही मस्त है....
राहुल मैंने कभी इतना मस्त और सुन्दर लंड नही देखा है अभी तक ....!!
अपनी तारीफ सुन के मेरा लंड ख़ुशी से और फुल गया था ...
मैंने गौरी के बोबे पकड लिए और उनको सहलाने लगा ,
गौरी मेरे निप्पल को हलके हलके दन्त लगाने लगी थी ...
बड़ा ही मजा आ रहा था ..
=
तभी कालबेल बजी में चोंक गया की कौन आ गया है ,
मैंने राजू का बरमूडा और टी पहनी, गौरी को बाथरूम में जाने को कहा और में दरवाजे की और गया ।
=
(8)
=
=
आगे
=
=
मैंने दरवाजा खोला ,दरवाजे पर राजू की पड़ोसी उषा खड़ी थी, उनका फ्लेट एकदम ही सामने था ।
उसकी उम्र करीब 46 साल है ,वो विधवा है और 2 बच्चे भी है
एक लड़का है जो हमारे ही कॉलेज में पढ़ते है,
जबकि उनकी लड़की अपने मामाजी के पास रहती है ।
उषा मुझे जानती भी है ।
दरवाजा खोलते ही उषा बोली => राजू की अम्मी कहाँ है ..?
मैंने कहा => जी वो तो तीन-चार दिन के लिए बाहर गई है ।
उषा => ओहो इसीलिए पार्टी हो रही है आज,
और बियर उड़ रही है, और कौन है घर में बोलो...?
ये सब सुन कर तो में डर गया ।
मैंने बोला और कोई नही है उषा आंटी .
उषा => झूठ एक औरत भी आई थी अभी आधे घण्टे पहले,
कौन थी वो और यहां क्यों आई है,
राजू की अम्मी मुझे बोल के गई है ,की पीछे से घर और बच्चे का ख्याल रखना।
फिर उषा की नजर सीधे ही मेरे बरमुडे की तरफ गई ,
उषा आंटी ने मेरा खड़ा लण्ड देख लिया. मगर कुछ बोली नहीं,
में बहुत ही डर गया और सोचने लगा की क्या करूँ..?
तभी उषा की नजर गौरी की कमीज पर पड़ी वो वहीं पड़ी थी ,हॉल में सोफे के पास और बियर की खाली बोतल भी पड़ी हुई थी।
उषा ने उसको उठाया और देखा फिर बोली => ओहो तो ये बात है बियर के साथ रांड भी लाये हो तुम लोग,
अभी मूंछ भी पूरी नही आई है और ये शौक ,
कहाँ है वो रांड बोलो वरना सोसाइटी वालो और पुलिस वालो को बुलाती हूँ, जल्दी बोलो ।
आज तुम चोदने को घर रांड लाये हो कल नही मिली तो किसी के
साथ बलात्कार ही कर दोगे।
आजकल के लड़के यही सब तो सिख के बलात्कार करते है
__
ये सब सुन कर अब तो मेरी डर के मारे गांड ही फट गई ।
अब चुप रहने से हल्ला हो सकता था।
(9)
=
=
में सोच ही रहा था की क्या करूँ केसी मुसीबत आ गई है ये ।
उषा बोली जल्दी बोलो राहुल वरना शौर मचाती हूँ ।
मेरे पास अब कोई और चारा नहीं था,
मेरे चुप रहने से बड़ी बदनामी हो सकती थी
सो मैंने एक फैसला किया ।
मैंने जल्दी से उषा के पैर पकड़ लिए,और रुआंसा होकर बोला प्लीज़ आंटी मुझे माफ़ करदो इस बार गलती हो गई अब कभी नहीं करूँगा ,
और आँख से एक दो आंसू भी निकल आये डर के मारे।
उषा ने मुझे उठाया और सोफे पर अपने पास बैठाया और बोली डर मत..
राहुल मुझे पूरी बात बता सब कुछ जो भी हुआ है और वो रंडी कौन है ।
अब मैंने जल्दी जल्दी सब कुछ बता डाला ।
उषा ये सब सुनते सुनते मुस्कराने लगी थी और
वो मेरे चेहरे को गौर से देख रही थी ।
इसी बिच राजू को गए करीब 20 मिनिट हो चुके थे और गौरी बाथरूम में ही थी ।
जब मैंने पूरी बात बताई तो उषा हंस पड़ी और
बोली =>मतलब तुमने अभी पूरा मजा नही लिया है ,
उस रंडी को खाली मुंह में ही दिया है बस,
चूत और गांड में अपना लण्ड नही डाला है तुमने राहुल बेटा.....
मैंने हामी भरी ।
अब मैं चुपचाप सोफे पर बेठा था .
मैंने सिर उठाकर देखा, तो उषा आंटी की नज़र मेरे तने हुए लंड पर थी.
तभी उषा आंटी ने बरमुडे के ऊपर से ही मेरा लण्ड पकड़ लिया ,
और बरमूडा निचे खिंच लिया ।
मेरा ७ इंच का खड़ा लंड उनको सलामी दे रहा था.
मैंने कुछ साहस दिखाया और उनसे पूछा=>आंटी, क्या देख रही हो..?
अब उषा आंटी शर्मा गयी और अपने होंठ से अपनी जीभ खुजाने लगी पर उन्होंने मेरा लंड नही छोड़ा ,
वो धीरे - धीरे मेरा लंड सहलाने लगी थी ,
मैंने बिना और कुछ बोले या सुने हुए, उनके लिपस पर किस कर लिया.
फिर मैंने आंटी से पूछा => क्या आपको मेरा लंड चाहिए..?
उषा बोली =>पहले उस रण्डी को दफा करो और
राजू को कुछ भी मत बताना,
आज राजीव(उषा का लड़का) घर पर नही है ,
तुम यहां से निपट कर मेरे घर आ जाओ ...
फिर उषा ने मेरी पप्पी ली और निकल गई ।
उसके जाने करीब 5 मिनिट में ही राजू बियर ले के आ गया ।
लेकिन मैंने राजू को कुछ भी नहीं बताया ...


Read More Related Stories
Thread:Views:
  अम्मी की बदमाशियां 7,279
  अम्मी और खाला को कुत्तों की तरह चोदा 148,649
  अम्मी ने गांड मरवा दी मेरी 63,160
  अपनी अम्मी को जरूर चोदना 15,631
 
Return to Top indiansexstories